किरीट ठक्कर

गरियाबंद। कोविड -19 कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए अब ग्रामीण भी पूरी तरह जागृत हो चुके है और अपनी सजगता का प्रमाण दे रहे हैं।

जिले के छुरा ब्लॉक के ग्रामीणों ने गांव में पहुचने के रास्ते लकड़ी, झाड़ी या अन्य साधनों से बंद कर दिये हैं साथ ही बैनर टांग कर बाहरी लोगों के प्रवेश को प्रतिबंधित करती सूचनाये लिख दी है। छुरा विकासखंड के ग्राम बोडराबांधा, बहेराभांठा, जामली में ये नजारा देखने को मिल रहा है, जहां ग्रमीण लॉक डाउन का खुद भी पालन कर रहे हैं साथ ही गांव पहुँचने वालों को भी हतोत्साहित कर रहे हैं।

ग्रामीणों द्वारा बैनर पर लिखी सूचनाएं तथा स्लोगन बेहद दिलचस्प है, बोडराबाँधा के ग्रामीणों ने “कोरोना” शब्द के प्रारंभिक शब्दों को अलग-अलग करते हुए को – कोई , रो – रोड पर , ना – ना निकले लिखा है। बहेराभांठा के ग्रामीण लिखते हैं कि धारा 144 लागू , लॉक डाउन 21 दिन तक बाहरी व्यक्तियों का प्रवेश निषेध, घर पर रहे सुरक्षित रहे।

वही ग्राम जामली के लोंगो ने अन्य राज्य या गांव से आने वाले व्यक्तियों का अनिश्चित काल के लिए प्रवेश निषेध लिख कर बैनर टांगा है और बाहरी व्यक्तियों को गांव में से रोक लगा रहे हैं।

 

By Soni Smt. Sheela

सम्पादक : प्रचंड छत्तीसगढ़, मासिक पत्रिका, राजधानी रायपुर से प्रकाशित। RNI : CHHHIN/2013/48605 Wisit us : https://www.pc36link.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.