Corruption

नौकरी लगाने के नाम पर लाखों रुपए की ठगी, आरक्षक अतीश मिंज की दबंगई।

दीपक वर्मा, संवाददाता
जशपुर।

जशपुर (hct)। जिले के बगीचा ब्लाक अंतर्गत महादेव डॉड़ के ग्राम पंचायत बासेन का मामला सामने आया है जो कि पुलिस आरक्षक बैच नंबर 647 नाम है अतिश मींज पिता का नाम फाबियानुस मिंज जो विधवा महिला अलबिना कुजूर से पैसा का कारोबार कर उनको धमकी भी देता आ रहा है।

आपको यह जान कर हैरानी होगी की आरक्षक अतीश मिंज जो फिलहाल दुलदुला थाना में पदस्थ है और गांव की विधवा महिला अलबिना कुजूर को उसकी बहु और बेटे की नौकरी लगवाने के बहाने एक लाख 60 हजार रुपया ले चुका है जो 7 साल हो गए न तो अलबिना कुजूर के बेटे बहु की अब तक नोकरी मिली ना ही अब तक पैसा वापस हुआ, जब विधवा महिला उनके पास पैसा मांगने जाती है तो पुलिस आरक्षक आतीश मिंज बार-बार टाल मटोल कर बेसहारा बुजुर्ग महिला को धमकी भी देता आ रहा है।

इस मामले में पुलिस आरक्षक आतीश मिंज के खिलाफ कई बार शिकायत दर्ज हो चूका है फिर भी अब तक कोई कार्यवाही नही हो पाई है। विधवा महिला न्याय के लिए दर दर भटक रही है; लेकिन कोई उसका दर्द समझने का नाम नही ले रहा।

अभी फिर से महिला 9/12/2019 को बगीचा थाना में शिकायत दर्ज की है बुजुर्ग विधवा महिला का कहना है घर की स्थिति ठीक नही है और आतीश मिंज पुलिस वाला हूँ बोलकर धमकी देते रहता है ।

आपको बता दें इससे पहले भी गांव के कई लोगों के द्वारा आतीश मिंज के खिलाफ कई शिकायतें आते रहे हैं इससे पहले जनवरी में भी शिकायत दर्ज हुई थी। अनिल एक्का पिता खेलबेस्तर एक्का के द्वारा पैसा अपहरण का मामला दर्ज किया गया था; जिसमे आतीश मिंज द्वारा घर के अंदर हितग्राही अनिल एक्का को बंधक बनाया गया था और थाना पुलिस ना जाने की धमकी मिली थी उसका बयान बदलवाया गया था।

ग्रामीणों का कहना है लोकल आदमी होने की वजह से लोग इससे डरे हुए हैं हमेशा इसका वसूली जैसे और दो नम्बरी काम करते रहता है और धमकी चमकी देते रहता है। बगीचा पुलिस आरक्षक के ऊपर कार्यवाही करती है या नही, क्या विधवा बेसहारा महिला को न्याय मिलेगी क्या हितग्राही अनिल एक्का को न्याय मिलेगी? या पुलिस आरक्षक आतीश मिंज की गुंडाई इसी तरह कायम रहेगी।

Soni Smt. Sheela

सम्पादक : प्रचंड छत्तीसगढ़, मासिक पत्रिका, राजधानी रायपुर से प्रकाशित। RNI : CHHHIN/2013/48605 Wisit us : https://www.pc36link.com

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button