रामायण एवं महाभारत के बाद… आज इतने.. बजे से होगा शक्तिमान का प्रसारण!!

HCT:नई दिल्ली। कोरोना वायरस के कारण हुए लॉकडाउन के बीच लोगों की डिमांड पर दूरदर्शन ने अपने पुराने सुपरहिट सीरियलों का दोबारा टेलिकास्ट करना शुरू कर दिया है। रामानंद सागर का ‘रामायण’, बीआर चोपड़ा का ‘महाभारत’, ‘सर्कस’ और ब्योमकेश बख्शी के बाद अपने दौर की सबसे पॉप्युलर सुपरहीरो सीरीज ‘शक्तिमान’ का नाम भी जुड़ गया है। दर्शक ‘शक्तिमान’ के दोबारा प्रसारण की मांग लंबे समय से कर रहे हैं और दूरदर्शन ने घोषणा की है कि 1 अप्रैल 2020 से दोपहर 1 बजे रोजाना इस सीरियल का प्रसारण होगा। लेकिन क्‍या आज के बच्‍चों में इसे लेकर पहले जैसी दीवानगी होगी?

भारतीय बच्चों अपना पहला सुपरहीरो
शक्तिमान को इंडिया का पहला ऐसा सुपरहीरो माना जाता है जिसपर आधारित सीरीज का टेलिकास्ट टेलिविजन पर हुआ। साल 1997 में शुरू हुए इस सीरियल में मुकेश खन्ना ने शक्तिमान और पंडित गंगाधर विद्याधर मायाधर ओंकारनाथ शास्त्री का किरदार निभाया था। इस सीरियल ने उस दौर के बच्चों को अपना दीवाना बना लिया था। उस वक्त बच्चों पर शक्तिमान का इतना क्रेज था कि उन्हें वास्तव में लगता था कि अगर वे मुसीबत में होंगे तो शक्तिमान उन्हें बचाने आ जाएगा। बच्चों के इसी दीवानेपन के कारण तब कई दुर्घटनाएं भी हुई थीं जिनमें बच्चे घायल हो गए थे या उनकी जान चली गई थी।

स्कूल बंक कर देते थे बच्चे
दूरदर्शन पर शक्तिमान का प्रसारण रविवार के दिन से शुरू हुआ था। बाद में इसके प्रसारण का समय बदलकर शनिवार की दोपहर में कर दिया गया। बच्चों के बीच शक्तिमान का कितना क्रेज था इसका अंदाजा आप इस बात से ही लगा सकते हैं कि उस जमाने में केवल दोपहर में शक्तिमान देखने के लिए बच्चे स्कूल तक बंक कर दिया करते थे। बच्चों के छत से कूदने और स्कूल बंक करने जैसी हरकतों के कारण ही पैरंट्स ने यहां तक कहना शुरू कर दिया था कि भारत की यह पहली सुपरहीरो सीरीज बच्चों पर बुरा प्रभाव डाल रही है। इसे देखते हुए बाद में सीरियल में बच्चों को अच्छी आदतें और अच्छी बातें भी सिखाई जाने लगी थीं।

लोगों की खुशी का ठिकाना नहीं है, आखिर लॉकडाउन के कारण उन्हें 90 के दशक के अपने फेवरिट शोज जो फिर से देखने को मिल रहे हैं। अब तो बच्चों को पसंदीदा सुपरमैन शो ‘शक्तिमान’ भी फिर से टेलिकास्ट किया जा रहा है। यह एक ऐसा शो था, जिसे देखने के लिए बच्चे खाना-पीना तक भूल जाते थे।

शक्तिमान और पंडित गंगाधर विद्याधर ओमकार नाथ शास्त्री का किरदार निभाने वाले मुकेश खन्ना को भला कोई भूल सकता है? इस शो के निर्माता रहे मुकेश खन्ना को बच्चों से लेकर बड़ों ने शक्तिमान के रूप में इतना पसंद किया कि वे ‘छोटी मगर मोटी बातों’ के जरिए जो भी समझाते बच्चे वही मानते थे। मुकेश खन्ना ने बाद में कई टीवी शोज और फिल्में कीं। अब वह अपना यूट्यूब चैनल चलाते हैं, जहां वह ‘शक्तिमान’ से लेकर अन्य मुद्दों पर विडियो शेयर करते हैं।

शक्तिमान की प्रेमिका गीता विश्वास बनी थीं वैष्णवी मर्चेंट (महंत), जिन्होंने बाद में कई टीवी शोज में काम किया और अलग पहचान बनाई। उन्होंने कई फिल्मों में भी काम किया। वह 2019 में आई फिल्म ‘दोस्ती के साइड इफेक्टस’ में दिखाई दीं।

वैष्णवी से पहले यह किरदार किट्टू गिडवानी ने निभाया था। ‘शक्तिमान’ में वह एक पत्रकार के रोल में थीँ, लेकिन बाद में उन्हें वैष्णवी महंत ने रिप्लेस कर दिया।

जब गीता विश्वास जैसी रिपोर्टर की बात हो रही है तो फिर भला धमाकेदार न्यूज एडिटर को कैसे भूला जा सकता है। यह रोल निभाया था ऐक्टर राम सेठी ने। वही राम सेठी, जिन्हें कभी अमिताभ बच्चन का ‘दाहिना हाथ’ माना जाता था। राम सेठी ने कई फिल्मों में बिग बी के साथ काम किया। बहुत सी फिल्मों का निर्देशन किया, कहानी लिखी और ऐक्टिंग भी। आज भी राम सेठी वही काम कर रहे हैं।

तमराज किलविश जैसा खूंखार और भयानक किरदार ऐक्टर सुरेंद्र पाल ने निभाया था। ‘अंधेरा कायम रहे’ जैसे डायलॉग के जरिए सुरेंद्र पाल ने तमराज किलविश के रोल को हमेशा के लिए अमर बना दिया। सुरेंद्र पाल कई टीवी शोज और फिल्मों का हिस्सा रहे हैं। उन्होंने अपना एक प्रॉडक्शन हाउस भी खोला है, जिसके बैनर तले वह भोजपुरी फिल्में प्रड्यूस और डायरेक्ट करते हैं।

वैज्ञानिक डॉ. जैकाल याद है? वही जैकाल जो तमराज किलविश के लिए काम करता था? यह किरदार ऐक्टर ललित परिमू ने निभाया था। आजकल वह फिल्मों में सक्रिय हैं। हाल ही वह ‘कांचली’ फिल्म में नजर आए। इससे पहले वह ‘हैदर’ और ‘एजेंट विनोद’ जैसी फिल्मों का हिस्सा रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *