*लक्ष्मी नारायण लहरे (कोसीर)
कोसीर। कच्ची शराब का कारोबार अंचल में फल -फूल रहा इस बात को झुठलाया नहीं जा सकता जो गाहे बगाहे पकड़ में आती है तब इस बात की पुष्टि होती है। आखिर शराब दुकान होने के बाद भी कच्ची शराब अंचल में मिलना कई विषयों को जन्म देती है। कुछेक लोग तो पारम्परिक तरीके से तीज त्योहार में शराब का सेवन करते है तो कुछेक लोग धन कमाने के लिए धंधे के रूप में शराब बेचतें हैं। कच्ची शराब, दुकान के शराब के अपेक्षा सस्ती में मिलती है इस कारण भी लोग कच्ची शराब को पीने के लिए शौक रखते हैं।
कुछेक लोग कच्ची और दुकान की शराब बेचतें है इन सब का मतलब धन से है। कम समय मे शराब से धन मिलती है और जीवकोपार्जन में सहायक होती है यह बात तब समझ मे आती है जब बार-बार पकड़े जाने पर भी लोग अवैध शराब या कच्ची शराब बेचना बंद नहीं करते, क्योकिं इस धंधे से उनका परिवार चलता है गन्दा है पर धंधा है।
अब सिंघनपुर गांव का ही मामला देख लीजिये एक वृद्ध महिला पकड़ी गई है। कोसीर थाना क्षेत्र के ग्राम सिंघनपुर में एक वृद्ध महिला 59 लीटर कच्ची महुआ शराब के साथ पकड़ाई है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार मुखबिर की सूचना पर सहायक उपनिरीक्षक लक्ष्मण पुरी गोस्वामी, आरक्षक भीम सेन सिदार, लक्ष्मी चन्द्रा, प्रमिला भगत, सैनिक तीज राम, दामोदर चन्द्रा ने बजरंग पारा सिंघनपुर में पानटोरी यादव उम्र 85 वर्ष के घर छापामार कार्यवाही की, मौके पर अलग-अलग जरकिन में 59 लीटर कच्ची महुआ शराब कीमत 59 सौ रूपये को जप्त किया। आरोपी वृद्ध महिला के खिलाफ 34 (2), 59 क आबकारी एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी को रिमांड में जेल भेज दिया गया है। गौरतलब हो कि क्षेत्र में कच्ची महुआ शराब का अवैध कारोबार जोरों पर चल रहा है पुलिस की छापेमारी कार्रवाई के बाद भी शराब बनाने व बेचने के काम में कमी नहीं आ रही है।

By Soni Smt. Sheela

सम्पादक : प्रचंड छत्तीसगढ़, मासिक पत्रिका, राजधानी रायपुर से प्रकाशित। RNI : CHHHIN/2013/48605 Wisit us : https://www.pc36link.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.