नीलेश गोयल
खरोरा।
Ad space

खरोरा थाना प्रभारी खरोरा रमेश मरकाम ने की आम जनता से अपील की है कि घर से बेवजह बाहर ना निकले और 31 मार्च 2020 तक घर पर रहकर प्रशासन को सहयोग प्रदान करें ताकि कोविद 19 जैसी महामारी से लड़ने में मदद मिल सके, इस अपील के साथ थाना प्रभारी ने यह भी कहा है कि आम जनता सहयोग प्रदान करें वरना पुलिस को सख्त कार्रवाई करने पर मजबूर होना पड़ेगा, यह सख्ती उनके लिए ही की जाएगी, ताकि लोग संक्रमण के दायरे से दूर रहे।

बता दें खरोरा का सप्ताहिक सोमवार बाजार लगा हुआ था वहां पर भीड़ अधिक हो गई थी जैसे ही इसकी सूचना थाना प्रभारी खरोरा को मिली बाजार खरोरा पहुंचे और वहां से भीड़-भाड़ हटाकर उन्होंने सब्जी बेचने वालों से निवेदन किया कि वह घर-घर जाकर सब्जी बेचें, कहीं पर भी अनावश्यक रूप से भीड इकट्ठा ना करें कि केंद्र सरकार की विशेष अपील पर छत्तीसगढ़ सरकार ने भी कोरोना वायरस महामारी के चलते प्रदेश के सभी जिले को आगामी 31 मार्च तक लॉक डॉउन कर दिया है इस लॉक डॉउन के दौरान इमरजेंसी सेवाएं मेडिकल ,अस्पताल, किराना दुकान, सब्जी, फल जैसी बुनियादी और रोजाना की जरूरत वाली स्थानों को छोड़ बाकी अन्य दुकानों को बंद करने के आदेश सभी जिला कलेक्टरों को दिए हैं साथ ही रायपुर जिले सहित सभी जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है जिसके अनुसार एक स्थल पर पांच व्यक्ति कहीं भी खड़े नहीं हो सकते बावजूद इसके धमतरी जिले में लोग इस गंभीर मसले पर अभी भी सजग दिखाई नहीं दे रहे, हालांकि व्यापारी संघ ने इस बंद को पूरा सहयोग देते हुए अपने व्यापार बंद कर रखा है, पर अभी भी आम लोग बंद के बावजूद भी सड़कों पर आम दिनों की तरह ही घूमते हुए ,बेवजह इकट्ठे होते हुए दिखाई दे रहे हैं जिस पर पुलिस ने एक अपील जारी करते हुए सख्त कार्रवाई करने की हिदायत आम लोगों को दी है।

खरोरा पुलिस आला अधिकारियों के निर्देश पर शहर के दीनदयाल उपाध्याय चौक जीई रोड सहित मुख्य चौको पर पुलिस के अधिकारी कर्मचारी अब ऐसे बेवजह सड़कों पर निकले लोगों पर सख्ती करते हुए उनकी वाहनों को रोककर आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है, कि, लोग घर पर ही रहे, बेवजह सड़को पर चौक चौराहों पर इक्कठे ना हो, जब एकदम ही ज्यादा जरूरत या इमरजेंसी हो तभी घर से बाहर निकले अन्यथा घर पर रहकर ही इस संक्रामक बीमारी से बचने प्रशासन को पूरा सहयोग करें।
वही श्रमजीवी पत्रकार संघ के अध्यक्ष निलेश गोयल ने किसानों से अपील की है कि उनकी बाडी में यदि अगर सब्जी होता है तो वह घर घर जाकर सब्जी का विक्रय करें जिससे कि लोगों को आसानी से साग सब्जी मिल सके ग्रामीण क्षेत्रों में बहुत अधिक मात्रा में सब्जी होती है जिससे लोगों को सुलभता से सब्जी की व्यवस्था हो सके।

ad space

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here