होली त्योहार के मद्देनजर राजधानी की मुस्तैद पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर एक ट्रक महंगी शराब जब्त कर ली है। शराब की कीमत लाखों में आंकी गई है।

रायपुर। कृष्णा पटेल, नगर पुलिस अधीक्षक, पुरानी बस्ती ने जानकारी देते हुए बताया कि एसएसपी आरिफ शेख और एएसपी प्रफुल्ल ठाकुर ने होली के पूर्व अवैध शराब आने की आशंका पर कार्रवाई के निर्देश दिए थे, जिसके मद्देनजर राजधानी में आने वाले ट्रक और मालवाहकों पर पुलिस नजर बनाए रखी हुई थी। इसी तारतम्य में सूचनातंत्र से खबर मिली कि हरियाणा की शराब रायपुर लाई जा रही है…

राजधानी के टिकरापारा पुलिस द्वारा देवपुरी के पास ट्रक क्रमांक UP 81 AF 6985 को रोककर तलाशी ली गई, जिसमें टाइल्स की पेटियों के आड़ में महंगी शराब छुपाकर रखी गई थी। ट्रक से महंगे ब्रांड की 175 पेटी शराब जब्त की गई। जब्त शराब की कीमत लाखों में आंकी गई है। टिकरापारा पुलिस ने मामले में आरोपी ट्रक चालक दिगम्बर जाटव निवासी अलीगढ़ उत्तरप्रदेश को गिरफ्तार किया गया है। आबकारी एक्ट धारा 34 (2) के तहत अपराध कायम कर मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है। पुलिस की इस कार्रवाई से शराब माफियाओं में हड़कंप मच गया है।

इस तरह प्रयास शराब माफियाओं द्वारा लगातार किए जाते हैं। जिससे कि अलग से इसे मार्केट में खपाया जा सके, लेकिन पुलिस की मुस्तैदी ने इनके मंसूबों पर पानी फेर दिया है। प्रदेश में शराब बिक्री के सरकारीकरण किए जाने के बाद से शराब माफियाओं के हौसले पस्त हैं।

अवगत हो कि इसी तरह बलौदाबाजार में भी अवैध अंग्रेजी शराब जब्त की गई है। जिसकी कीमत करीब 96000 रूपए आंकी गई है। शराब तस्करों की होली त्यौहार पर अंग्रेजी शराब खपाने की योजना थी। बताया जा रहा है कि यहां 2 सगे भाईयों के द्वारा अवैध शराब बिक्री की जा रही थी। आरोपियों ने घर और दुकान में शराब छिपाकर रखा था। उक्त यह मामला बलौदाबाजार सिटी कोतवाली का है। जहां पुलिस ने कार्रवाई की है।

*सूत्र।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.