किरीट ठक्कर
रियाबंद। धान खरीदी के दूसरे दिन अल सुबह ही धमतरी जिले का ढाई सौ कट्टा धान गरियाबंद कृषि उपज मंडी पहुंच गया, किन्तु प्रशासन की सख्ती से बिचोलिये की मंशा अधूरी रह गई ,यहाँ धान बेचने के पूर्व ही जप्त कर लिया गया।
प्राप्त जानकारी के अनुसार ग्राम मारागांव ब्लॉक मगरलोड जिला धमतरी से दो ट्रेक्टरों में धान भरकर गरियाबंद की ओर लाये जाने की सूचना नायाब तहसीलदार कुसुम प्रधान को सुबह प्राप्त हुई , जिस पर नायाब तहसीलदार नगर सैनिक गणेश ध्रुव को लेकर नागाबुड़ा पहुंच गई, किन्तु दोनो ट्रेक्टर गरियाबंद मंडी पहुंच गए थे, सूचना की पुष्टि होने पर गरियाबंद मंडी में दोनों ट्रेक्टर मिले, जहाँ कुछ कट्टे अनलोड किये जा रहे थे।
धान का अनुमानित मूल्य ढाई लाख रुपये बताया जा रहा है। प्रारम्भिक जानकारी के अनुसार गरियाबंद जिले के ग्राम कोकड़ी से टोकन लेकर उक्त धान धमतरी जिले के मारागांव से लाया जा रहा था।
बिना नंबर प्लेट के ट्रेक्टर

जिन दो ट्रेक्टरों में धान लाया गया उनमे से एक ट्रैक्टर में ट्रॉली सहित नंबर प्लेट नही है , वही दूसरे ट्रेक्टर की ट्राली में नंबर प्लेट नही है ।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.