शहर के भाठागांव क्षेत्र में अज्ञात हमलावरों ने एक निजी चिकित्सक डाॅ.जीवन जलक्षत्री की चाकू मारकर हत्या कर दी। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कुछ युवक गुलाल लगाने के बहाने डाॅ.जलक्षत्री को घेरा और चाकू से ताबड़तोड़ हमला कर दिया। वारदात के बाद चारों आरोपी भाग निकले। लहू-लुहान डाॅक्टर को आसपास के लोगों ने अस्पताल दाखिल कराने की कोशिश की लेकिन उन्होंने दम तोड़ दिया। वही मामले के बाद पुलिस ने शक के आधार पर दो युवकों को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ करने पर मामले का खुलासा हो गया।

रायपुर। थाना पुरानी बस्ती पुलिस को सूचना प्राप्त हुई कि भाठागांव में चिकित्सक डाॅ. जीवन जलक्षत्री की कुछ आरोपियों द्वारा उसके भाठागांव बाजार स्थित क्लिनिक में प्रवेश कर चाकू मारकर हत्या कर दिये है। सूचना को गंभीरता से लेते हुए वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक आरिफ शेख द्वारा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शहर, नगर पुलिस अधीक्षक उरला, नगर पुलिस अधीक्षक कोतवाली एवं नगर पुलिस अधीक्षक पुरानी बस्ती को आरोपियों की पतासाजी कर गिरफ्तारी करने हेतु आवश्यक निर्देश दिए। पुलिस ने बताया कि एक विशेष टीम का गठन किया गया था।

टीम द्वारा घटना स्थल का बारिकी से निरीक्षण किया गया एवं घटना के संबंध में आसपास के लोगों से विस्तृत पूछताछ किया गया। टीम द्वारा घटना स्थल व उसके आसपास लगे सी.सी.टी.व्ही. कैमरों के फुटेज भी खंगाले जा रहे थे, इसी दौरान सी.सी.टी.व्ही. फुटेज में आरोपियों के संबंध में महत्वपूर्ण जानकारी प्राप्त हुई एवं टीम द्वारा आरोपियों की पहचान सुनिश्चित करने में सफलता प्राप्त की गई।

1 वर्ष पुराने विवाद व महिला से छेड़छाड़ को लेकर रची हत्या की साजिश, सभी आरोपी दो घंटे में गिरफ्तार ।

पुलिस ने प्रेसवार्ता में जानकारी दी कि पूछताछ में आरोपियों ने बताया “01 वर्ष पूर्व उनका डाॅ0 से किसी बात को लेकर विवाद हुआ था, जिसकी वजह से उनके बीच हमेशा अनबन की स्थिति बनी रहती थी। सप्ताह भर पूर्व आरोपी अरूण के भाई द्वारा आरोपियों को यह पता लगा कि डाॅ0 द्वारा ईलाज करने के दौरान उनकी परिचित एक महिला से छेड़छाड़ किया गया था।” इसी बात को लेकर आरोपी आक्रोशित हो गये एवं डाॅ0 की हत्या करने की योजना बनायी तथा घर से चाकू लेकर योजना के अनुसार डाॅ. जीवन जलक्षत्री की हत्या कर फरार हो गये थे।

प्रकरण में आरोपी योगेश यादव को गिरफ्तार किया गया है तथा प्रकरण के शेष अन्य 03 आरोपियों (दीपक विश्वकर्मा, अरूण ध्रुव, संजय ध्रुव उर्फ मोटू) के साथ आम जनता द्वारा मारपीट की गई है जिनका मेकाहारा में उपचार जारी है। उपचार के उपरांत शेष आरोपियों को भी गिरफ्तार किया जायेगा।

 

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.