गरियाबंद। दीपावली के बाद बिंद्रानवागढ विधानसभा में चुनावी सरगर्मिया शुरू हो गयी है। त्यौहार के बाद विभिन्न राजनैतिक दलो ने जोर शोर से चुनाव प्रचार की कमान संभाल ली है। विदित हो कि यहां दुसरे चरण में 20 नवंबर को मतदान होना है।

बिंद्रानवागढ में भाजपा ने इस बार वर्तमान विधायक को टिकिट न देकर पूर्व विधायक डमरूधर पुजारी को पुनः प्रत्याशी बनाया है। डमरूधर पुजारी को प्रत्याशी बनाये जाने का वर्तमान विधायक व कुछ वरिष्ठ भाजपा नेताओं ने प्रारंभ में प्रखर विरोध किया था, असंतुष्टो को अब मना लिया गया है। फिर भी भाजपा इस सीट को जीतने के लिये पूरा दम लगा रही है। देवभोग तेल नदी के पार 36 गांव के माली समाज की नाराजगी को देखते हुऐ प्रदेश के मुख्यमंत्री डाॅ. रमन सिंह की सभा करायी जा रही है। इंडियन नेशनल कांग्रेस ने इस विधानसभा में इस बार नये युवा चेहरे पर दांव खेला है। 2013 के विधानसभा चुनाव में भी कांग्रेस ने एक नये चेहरे जनक ध्रुव को टिकिट दिया था। तत्समय जनक ध्रुव लगभग तीस हजार वोटो से पराजित हुऐ थे। इस बार भी कांग्रेस के नये चेहरे संजय नेताम अपना भाग्य आजमा रहें है।

पूर्व कांग्रेसी तथा इस क्षेत्र के दो बार कांग्रेस के विधायक रह चुके ओंकार शाह को टिकिट नही मिलने से कांग्रेस पार्टी में भी बगावत हो गयी है, ओंकार शाह सहित क्षेत्र के अनेक जिला व ब्लाॅक कांग्रेस पदाधिकारीयों नेें कांग्रेस पार्टी से इस्तिफा देकर ओंकार शाह को गोडवाना गंणतंत्र पार्टी का प्रत्याशी बनाया है। इस तरह बिंद्रानवागढ का चुनाव दिलचस्प हो गया है, इस सीट पर त्रिकोणिय संघर्ष के पुरे आसार है।

अब तक भाजपा क्षेत्र में प्रचार प्रसार में आगे है, दो दिनो पुर्व ही जिला मुख्यालय में भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की चुनावी आम सभा की गई थी। जानकारी के अनुसार डाॅ. रमन सिंह भी सोमवार देवभोग क्षेत्र में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे हैै। इधर इस मामले में कांग्रेस पार्टी से क्षेत्र में किसी स्टार प्रचारक का आगमन व सभा नही हुई है। वहीं गों.गं.पा. के प्रत्याशी ओंकार शाह लगातार ग्रामीण अंचलो में सघन जनसंपर्क कर रहें हैै। ओंकार शाह के प्रत्याशी बनते ही कई कांगे्रसी उनके समर्थन में आ खडे हुऐ है। इस सीट पर कम्प्युनिस्ट पार्टी के भोजलाल नेताम , आम आदमी पार्टी के सियाराम ठाकुर , बसपा से देवन्द्र ठाकुर भी चुनावी समर में है।
बिंद्रानवागढ विधान सभा क्षेत्र में भाजपा ने अशोक बजाज को चुनाव प्रभारी बनाया है।

गरियाबंद में राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की चुनावी सभा के बाद पार्टी आगे की रणनीति तय कर रही है। भाजपा को इस बार कांग्रेस पार्टी के अलावा गोडवाना गणतंत्र पार्टी से भी जबरदस्त टक्कर मिल सकती है।
*किरीट ठक्कर।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

One thought on “बिंद्रानवागढ : दीपावली के बाद चुनाव प्रचार में आयी तेजी।”

Leave a Reply

Your email address will not be published.