सो
शल मीडिया पर पत्रकारिता जगत से जुडी दो तस्वीरों ने अपना मुकाम हासिल करने के जद्दोजहद में धूम मचाने को बेताब है। एक हिंदुस्तान का और दूसरा पाकिस्तान का। इन दोनों तस्वीरों एक समानता है, दोनों ही तस्वीर बाढ़ को लेकर है। एक तस्वीर जो हिंदुस्तान का है जिसमें एक महिला पत्रकार नाव (नुमा बांस से बनी प्लेटफार्म) में बैठकर उस स्थल में समाचार संकलन के लिए जा रही है जहाँ लोग बाढ़ से प्रभावित है। वहीं पाकिस्तान के एक रिपोर्टर का वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वह गले तक पानी में डूबकर बाढ़ की रिपोर्टिंग कर रहा है।
इसमें उक्त पत्रकार का कहना है कि – फोटो पर सवाल उठे हैं, और खुद जवाब (देते हुए कहती है) – मुझे जिस गांव के अंदर जाना था वहां तक पहुंचने का एकमात्र साधन ये है। 4 लोग मुझे ले जा रहे हैं उनका यही काम है इस पार से उस पार ले जाना, जबसे बाढ़ आई है। उन्हें इसके बदले पैसे देने की कोशिश की तो जवाब था कि आप ये सरकार को दिखाइये ताकि हमें बोट मिल जाये। मेरा उसपर बैठकर पीटीसी करना लोगों को बाढ़ टूरिज्म लग रहा है। ये मुझसे पूछें दूसरी तरफ जाने में मेरी एक गलती,थोड़ा सा पैर फिसलता तो सीधे पानी में। हम स्टोरी करते हैं तो उसकी बहुत कहानियां होती हैं। ये रिस्क था, मेरा ये काम है। हर हाल में मुझे गांव के अंदर जाना था, वहां के हालात दिखाने थे। इस फोटो पर सवाल उठायें लेकिन ये भी याद रखें दस दिन पहले गर्भ से कराहती एक महिला को पुरुषों ने रात के नौ बजे ऐसे ही नदी पार कराई। वो मेरी रिपोर्टिंग का हिस्सा थी। ये बताना मेरा काम है। जो जैसा है उसे वैसा ही देखकर, महसूस कर आप तक खबर देना काम है, वो किया.करती रहूंगी।
Ad space

वहीं पाकिस्तान के एक रिपोर्टर का वीडियो वायरल हुआ है जिसमें वह गले तक पानी में डूबकर बाढ़ की रिपोर्टिंग कर रहा है। कुछ लोगों ने रिपोर्टर की तारीफ की है, लेकिन काफी लोग रिपोर्टर को ट्रोल कर रहे हैं। कई लोगों ने इस वीडियो को फनी बताया है। हालांकि, कुछ लोगों ने सोशल मीडिया पर लिखा कि रिपोर्टर को अपनी जिंदगी दांव पर नहीं लगानी चाहिए थी। पाकिस्तानी रिपोर्टर G-TV से जुड़े हुए हैं। रिपोर्टर पाकिस्तान के पंजाब क्षेत्र में सिंध नदी के जलस्तर बढ़ने को लेकर बात कर रहा है। रिपोर्टर के मुताबिक, लोगों की खेती की जमीन बाढ़ के पानी में डूब गई है। रिपोर्टर का नाम अजदर हुसैन सामने आया है। वहीं, चैनल ने लिखा- ‘पाकिस्तानी रिपोर्टर बाढ़ के पानी में, अपनी जिंदगी खतरे में डालकर ड्यूटी पूरी की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here