कहते हैं स्कूल शिक्षा का मंदिर होता है, और शिक्षक भगवान स्वरुप इसलिए कहा भी गया है – “गुरु गोविन्द दोउ खड़े, काके लागूं पांव। बलिहारी गुरु आपकी गोविन्द दियो बताय।” लेकिन आजकल शिक्षा और शिक्षक का रूप बदल गया है। शिक्षा का केंद्र (स्कूल) व्यापार के केंद्र हो चुके हैं और शिक्षक मदिरा और हवस के शिकारी। छत्तीसगढ़ प्रदेश में जब से सत्ता दलों में पैदाइशी खसोटन लालों के संरक्षण में लूट-खसोट का धंधा पनपा है; सारे के सारे शिक्षा केंद्र व्यापार के संस्थान में तब्दील हो चुके है। रही बात शिक्षकों की तब उनकी तो पूछिए ही मत…..
सोशल मीडिया में आज दो खबरों पर मेरी नजर गई तो सोंचने और लिखने पर विवश कर दिया, एक खबर है cgmetro.com से जहाँ की खबर है कि – जशपुर जिलान्तर्गत कांसाबेल विकासखंड के ग्राम तुरंगखार प्राथमिक शाला में पदस्थ शिक्षक अजयदान मिंज शराब के नशे में चूर सोते हुए मिले। वही विद्यार्थी चुपचाप कक्षा में बैठे हुए शिक्षक के उठने का इंतजार करते हुए देखे गए।
इस बीच ग्रामीणों ने बच्चों को शिक्षक के साथ खड़ा कर तस्वीरें भी लीं, लेकिन शिक्षक को इसकी भनक तक नहीं लगी। शिक्षक के शराब पीने पर ग्रामीणों ने जमकर नाराजगी जताई। वायरल हुए वीडियो में शिक्षक टेबल पर‍ सिर रखकर सोते हुए दिखाई दे रहे हैं। इस दौरान ग्रामीण जब उनसे सवाल पूछते है कि वे बच्चों को पढ़ाने की बजाए शराब पीकर यहां सो रहे हैं, तो शिक्षक इससे इनकार करने लगता है।

दूसरी खबर तो और भी चौकाने वाली रही ! “राष्ट्रबोध डॉट कॉम” के अनुसार – गरियाबंद जिलान्तर्गत छुरा से 15 किलोमीटर दूर बिरनीबाहरा पंचायत के आश्रित ग्राम कुड़ेमा के मिडिल स्कूल में प्रधानपाठक द्वारा छात्राओं को कमरे में बंद कर उनसे अश्लील हरकत करने का मामला सामने आया है। घटना पिछले शनिवार की है और प्रधानपाठक बीआर ध्रुव के खिलाफ जांच कर रिपोर्ट जिला शिक्षाधिकारी एसएल ओगरे को भेज दी गई है।
ओगरे ने मीडिया को बताया जांच रिपोर्ट के आधार पर आरोपी को निलंबित करने की तैयारी की जा रही है।
आपको यह बता दें कि यहाँ भी प्रधानपाठक नशे में धुत्त होकर आता है। जिसकी शिकायत में छात्राओं ने मीडिया को बताया कि प्रधानपाठक बीआर ध्रुव से वे बहुत परेशान हैं। आए दिन वे इसी तरह शराब पीकर स्कूल आते हैं और अभद्र व्यवहार करते हैं। छात्राओं ने मांग की कि स्कूल में महिला प्रधान पाठिका और महिला शिक्षिका मिलनी चाहिए।
स्कूल के प्रधानपाठक बीआर ध्रुव 20 जुलाई को नशे में धुत होकर स्कूल पहुंचे और स्कूल पहुंचते ही उपस्थित छात्राओं को कमरे में बंद कर दिया। इसके बाद जो हुआ वो शिक्षा के मंदिर को शर्मसार करने वाला था।
रोप है कि, ध्रुव ने छात्राओं से कहा कि “तुम सब मेरी गर्लफ्रेंड हो, आई लव यू, मैं तुम लोगों का रेप (दुष्कर्म) करूंगा’। कमरे में बंद छात्राओं ने घबराकर बचाने की आवाज लगाई तो बाहर मौजूद एक छात्र ने किसी तरह दरवाजा खोला। इसके बाद रोती-बिलखती छात्राएं तुरंत घर भागीं तथा अपने पालकों को पूरा वाकया बताया। आक्रोशित पालकों व ग्रामवासियों ने स्कूल पहुंचकर ने प्रधानपाठक को खूब खरी खोटी सुनाई । फिर ग्रामवासियों ने विकासखंड शिक्षा अधिकारी श्याम चन्द्राकर और संकुल समन्वयक पंकज साहू से इसकी शिकायत की।
संकुल समन्वयक पंकज साहू तत्काल स्कूल पहुंचे। उन्होंने छात्राओं से इस बाबत पूछा तो सभी ने रो-रोकर पूरी घटना का विवरण दिया। संकुल समन्वयक ने छात्राओं के बयान के आधार पर रिपोर्ट तैयार कर विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी (बीईओ) को सौंप दी है। बीईओ ने बताया कि मामले की कर प्रधानपाठक के खिलाफ रिपोर्ट तैयार कर जिला अधिकारी को भेज दी है, जैसे ही कोई आदेश आता है, हम कार्रवाई करेंगे।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.