सातवीं की छात्रा आत्महत्या का मामला, अधीक्षका सस्पेंड। दोषीयों को बक्शा नही जायेगा : विधायक अमितेश शुक्ल

किरीट ठक्कर
गरियाबंद। गुरुवार कस्तुरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय में कक्षा सातवीं की छात्रा की आत्महत्या का मामला तुल पकडता जा रहा है  इस घटना को लेकर कांग्रेसी कार्यकर्ता बेहद आक्रोशित है। जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष बैशाखुराम साहु ने मामले की निष्पक्ष जांच के लिए कमेटी गठन की घोषणा की है।
राजिम विधायक अमितेश शुक्ल भी शुक्रवार इस मामले को लेकर विशेष रुप से गरियाबंद पहुंचे, यहां आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होने कहा की इस घटना पर मुझे बेहद अफसोस है। मेरे विधानसभा क्षेत्र का प्रत्येक नागरिक मेरे पारिवारिक सदस्य की तरह है, इसलिए इस मामले में जो भी दोषी है उसे बक्शा नही जायेगा।
उन्होने जिले के अधिकारियों को चेतावनी देते हुए कहा की अब यहां कांग्रेस की सरकार है इसलिए संवेदनशीलता से काम करें, संवेदनहीनता बर्दाश्त नही की जायेगी। उन्होने प्रियंका नागेश की आत्महत्या की निष्पक्ष जांच के लिए सात सदस्यों की महिला कमेटी के गठन की भी घोषणा की है। उन्होने कहा पुलिस की जांच के बाद ये समिति निष्पक्ष जांच करेगी।
राजिम विधायक अमितेश शुक्ला कस्तुरबा आवासीय विद्यालय भी पहुंचे, जहां उन्होने स्टाफ के लोगों से भी चर्चा की और कहा की प्रथम दृष्टया हास्टल वार्डन इस मामले में दोषी लग रही है। अमितेश शुक्ल ने इस मामले को लेकर जिले के कई वरिष्ठ अधिकारियों से भी चर्चा की व उन्हें आवश्यक निर्देश दिए, जिसके बाद वे छात्रा के परिजनों से मिलने छुरा ब्लाक के विजयपुर ऱवाना हुए।
कांग्रेसी नेताओ ने की एस पी से मुलाकात
छात्रा की आत्महत्या से आक्रोशित कांग्रेसी कार्यकर्ता संजय नेताम, छुरा नगर पंचायत अध्यक्षा चन्द्रकुमारी शाह, छुरा जनपद अध्यक्षा धनेश्वरी मरकाम, राजकुमारी सोनी, सुरेश मानिकपुरी, कांग्रेस मिडिया प्रभारी रामगुलाल साहु इत्यादि ने आज पुलिस अधीक्षक एम आर आहिरे से मुलाकात की व इस मामले की निष्पक्ष तथा त्वरित जांच की मांग की है।

आदिवासी समाज भी उद्वेलित, एफआईआर दर्ज करने की मांग।

12 वर्षीय आदिवासी छात्रा प्रियंका की आत्महत्या की घटना को लेकर आदिवासी समाज ने भी घटना की निंदा करते हुये दोषीयों पर एआईआर दर्ज करने की मांग की है। समाज के जिला अध्यक्ष भारत दीवान व पुर्व विधायक ओंकार शाह तथा अन्य वरिष्ठजनों ने कलेक्टर को ज्ञापन सौंपते हास्टल वार्डन पर एआईआर दर्ज करने की मांग की है।

“यह था मामला”

जानकारी के अनुसार कक्षा सातवीं की छात्रा प्रियंका 4 दिनों की छुट्टी के बदले 7 दिनों के बाद गुरुवार कस्तुरबा आवासीय विद्यालय अपने मौसा के साथ पहुंची थी, जहां उसे लेट से आने को लेकर फटकार लगाई गई, फिर उसे कपडे बदलकर स्कुल युनिफार्म में क्लास में आने को कहा गया।
छात्रा उपरी मंजिल पर गई और काफी देर तक नही लौटी , आधे घंटे के बाद एक अन्य छात्रा ने उसे कमरे के अंदर पंखे से फांसी पर लटकते देखा और नीचे आकर सभी को सूचित किया।

 

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *