घोटालेबाज थाना प्रभारी, डी के कुर्रे लाइन अटैच।

व्यापारियों व पत्रकारों ने की थी थाना प्रभारी की शिकायत।  
अवैध वसूल, भू-माफिया से सांठ-गांठ, गौ तस्कर एवं गाँजा तस्करों को संरक्षण देने का लगा था आरोप।

बिलासपुर। मस्तुरी थाना प्रभारी डी के कुर्रे के खिलाफ व्यापारियों, पत्रकारों सहित आम-जनता ने मोर्चा खोलते हुए पुलिस अधीक्षक से शिकायत की थी जिसके बाद एसपी ने इस मामले पर तत्काल संज्ञान लेते हुए डी के कुर्रे को मस्तुरी थाना से हटाकर लाइन हाजिर कर दिया गया है।
तबादला सूची में 14वे नम्बर पर परिलक्षित, निरी. दिनेश कुमार कुर्रे
      विदित हो कि थाना प्रभारी डी के कुर्रे जब से मस्तूरी थाना प्रभारी बनकर आए थे तब से आम जनता, व्यापारी एवं पत्रकारो के प्रति सकारात्मक सोच नहीं था। आए दिन निर्दोष लोगों से अवैध वसूली, सट्टा, जुआ रुपये का लेनदेन कर थाना क्षेत्र में खिलवाया जाता था साथ ही भू-माफिया, गौ तस्कर एवं गाँजा तस्करों से खुलेआम लेन-देन कर अवैध वसूली किया जाता था और दिखावे के लिए कार्यवाही की जाती थी। इन तमाम मामलों को लेकर एसपी से शिकायत की गयी थी जिसके बाद मस्तुरी थाना प्रभारी डी के कुर्रे को लाइन हाजिर होने के आदेश जारी कर दिए गए।
मस्तुरी थाना प्रभारी के विवादित कार्यशैली को लेकर मस्तुरी क्षेत्र के व्यापारियों ने रोष जताते हुए बिलासपुर पुलिस अधीक्षक से मुलाकात कर थाना प्रभारी को तत्काल प्रभार से हटाए जाने की मांग की थी,  व्यापारियों ने थाना प्रभारी के कार्यशैली व क्षेत्र में बढ़ते अपराध की नाकामी को लेकर पुलिस अधीक्षक से शिकायत की थी, मस्तुरी व्यापारी संघ ने शिकायत में कहा था कि मस्तुरी थाना प्रभारी डी के कुर्रे द्वारा अपने कर्तव्यों का सही तरीके से निर्वहन ना करते हुए कार्यो में लापरवाही बरती जा रही है, बीते दिनों मस्तुरी के शिव ट्रेडर्स में अज्ञात व्यक्तियों द्वारा चोरी किया गया था, जिसके बाद शिव ट्रेडर्स के संचालक ने तत्काल चोरी की रिपोर्ट थाने में दर्ज करानी चाही मगर रिपोर्ट दर्ज नहीं किया गया। दो दिन के बाद जब व्यापारियों द्वारा सामूहिक रूप से इस मामले में रिपोर्ट दर्ज कराने की बात कही गयी तब जाकर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज की जिसके बाद से आज तक चोरी के आरोपियों को पुलिस पकड़ने में असफल रही व किसी भी तरह की कार्यवाही नहीं गई, साथ ही मस्तुरी में हुई किसी भी चोरी के चोर को पकड़ा नहीं गया, लेकिन मवेशी तस्कर, गांजा तस्कर को मुखबिर के सूचना से पकड़ा जाता है एवं रुपयों की उगाही की जाती रही है साथ ही जुआरियों एवं सट्टाखोरों को भी नहीं पकड़ा जाता है व उनसे वसूली भी की जाती है। व्यापारियों ने मस्तुरी थाना प्रभारी की भूमिका को लेकर भी सवाल खड़े करते हुए तत्काल उनके खिलाफ कार्यवाही की मांग की थी।

व्यापारी, पत्रकार व जनप्रतिनिधियो में हर्ष

मस्तुरी थाने में पदस्थ थाना प्रभारी डी के कुर्रे की मनमानी से क्षेत्रवासियों, जनप्रतिनिधियों व पत्रकारों में रोष व्याप्त था, थाना प्रभारी द्वारा क्षेत्रवासियों के साथ मनमानी करते हुए नियम विरुद्ध कार्य किये जाते है जिससे वे परेशान है वही भाजपा शासन में थाना प्रभारी द्वारा राजनैतिक संरक्षण प्राप्त कर जमकर मनमानी की गयी थी जिसके बाद कांग्रेस के शासन आने के बाद भी थाना प्रभारी के तेवर जस के तस बने हुए थे,  क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों- पत्रकारों के साथ भी थाना प्रभारी द्वारा दुर्व्यवहार कर अपनी पहुच का हवाला देते हुए किसी भी तरह की कार्यवाही नहीं होने की धौस दी जाती है वही कांग्रेस नेताओ से भी हुज्जत बाज़ी कर क्षेत्र में मनमानी की जाती है, थाना प्रभारी के इन सभी हरकतों से क्षेत्रवासियों, पत्रकारों सहित जनप्रति निधियो में जमकर नाराजगी थी जिसकी शिकायत लम्बे अरसे से पुलिस अधीक्षक से की जा रही थी। थाना प्रभारी के खिलाफ़ लगे गंभीर आरोपों को पुलिस अधीक्षक ने गंभीरता से लेते हुए उन्हें तत्काल लाइन हाजिर होने का आदेश जारी कर दिया जिसके बाद से क्षेत्र के व्यापारियों, पत्रकारों व जनप्रतिनिधियो में हर्ष व्याप्त है।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *