ब्लााक कांग्रेस में गुटबाजी, ऐल्डरमेन के नामो पर असंतोष।

*किरीट ठक्कर
गरियाबंद। कांग्रेस पार्टी में भले ही उपरी तौर पर कहा जा रहा हो की गुटबाजी खत्म हो गई है, किंतु स्थानीय स्तर पर कार्यकर्ताओ की आपसी गुटबाजी चरम पर है, इसकी बानगी नवनिर्वाचित कांग्रेस के विधायक अमितेष शुक्ल के 11 जनवरी नगर आगमन पर दिखाई दी।
शुक्ल के नगर आगमन पर ब्लाक कांग्रेस कमेटी द्वारा जो बैनर पोस्टर लगाये गये, उसे लेकर भी पार्टी के स्थानीय वरिष्ठ नेताओ व कार्यकर्ताओ में भी नाराजगी देखी गई। विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को मिली अप्रत्याशीत व भारी मतों से जीत के बाद, करीब डेढ माह उपरांत विधायक महोदय आभार प्रर्दशन के लिए नगर पहंचे थे, किंतु उनके स्वागत व आभार प्रर्दशन के लिए आयोजित कार्यक्रम में उत्साह नजर नही आया।
राज्य में कांग्रेस की सत्ता आते ही 20 दिसंबर सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा जारी आदेश के अनुसार, निगम, मंडलो, प्राधिकरणो , परिषदो व अन्य सस्थाओं में संचालक /सदस्यों के मनोनयन निरस्त कर दिये गये, जिसके बाद भाजपा शासन में मनोनीत नगर पालिका परिषद के ऐल्डरमेन्स की नियुक्ति को रदद कर दिया गया। परिषद के इन रिक्त पदों पर कांग्रेस विधायक की सहमति से नियुक्ति किया जाना है प्राप्त जानकारी के अनुसार इसके लिए पांच नामो की सूची भेजी गई है, कार्यकर्ताओ के बीच इन नामो को लेकर रस्साकशी चल रही है, पुराने कार्यकताओ का आरोप है, कि आज तक किये गए उनके समर्पित कार्याे की अनदेखी कर नए लोगो को तरजीह दी जा रही है।
जानकारी के अनुसार इन में से दो नाम एक ही वार्ड व एक ही समाज के व्यक्तियो के है। यदि इसी संभावित सूची के अनुसार नियुक्ति की जाती है तो विवाद बढ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *