“तेरह साल के नोनी ( लड़की ) हवे साहब.. रात ले कहाँ चल गईस.. राति के आए रहेंव हमन.. तो साहब मन बोलिन सुबह आबे.. तो रिपोर्ट लिखाही”

तेरह वर्षीय बालिका की गुमशुदगी मामले में सूचना के बावजूद रिपोर्ट दर्ज नहीं करने और लापरवाही बरतने वाले भटगांव थाने के मुंशी अनिल कुमार और ASI कृष्ण कुमार को सस्पेंड कर दिया साथ ही T.I. भटगांव को भी लाईन अटैच कर दिया है।

अंबिकापुर। पुलिस विभाग में मामले के मर्म को समझ चुस्त पुलिसिंग के लिए हमेशा तैयार रहने एवं अपने मातहतों को तैय्यार रखने वाले सरगुजा रेंज पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी सुबह अचानक औचक निरीक्षण करने भटगांव थाना पहुँचे जहां उन्हे 13 वर्षीय बालिका की गुमशुदगी की रिपोर्ट लिखाने पहुंचे आवेदक मिले।

आई जी रतन लाल डांगी ने मुंशी से जानना चाहा कि आवेदक रात में भी जब पहुंचे थे तब उनकी यह रिपोर्ट रात में क्यों नहीं लिखी गई जबकि आपको सूचना मिल गई थी।

सरगुजा आई जी रतन लाल डांगी ने तत्काल ड्यूटी रजिस्टर मंगाया और फिर मौक़े से आदेश जारी किया कि बेहद संवेदनशील मामला और उसमें ऐसी लापरवाही अक्षम्य है, जबकि स्पष्ट निर्देश हैं कि रिपोर्ट तत्काल लिखी जाए, बावजूद FIR दर्ज ना किया जाना सेवा में लापरवाही और वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देश की अवहेलना है।

पुलिस महानिरीक्षक श्री डांगी ने लिखा कि तत्कालीन ड्यूटी मुंशी अनिल कुमार और ड्यूटी प्रभारी ASI कृष्ण कुमार को निलंबित किया जाता है, साथ ही TI को लाईन अटैच किया जाता है।

सरगुजा पुलिस महानिरीक्षक रतन डांगी ने पुलिस कप्तान सूरजपुर राजेश कुकरेजा को प्राथमिक जाँच कराकर एक सप्ताह में रिपोर्ट भेजने के भी निर्देश दिए हैं।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.