ChhattisgarhPolitics

भाजपा में खुसुर-फुसुर : पार्टी के प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व सांसद ”विक्रम उसेंडी” के जन्मदिन पर प्रकाशित फ्लैक्स व विज्ञापन में “निष्कासित मन्तु पवार” की तस्वीर ?

रायपुर (hct)। भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष व पूर्व सांसद ”विक्रम उसेंडी” के जन्मदिन पर कुछ समाचार पत्रों व सोशल मीडिया में बधाई व शुभकामनाओं से भरा एक ”पोस्टर व फ्लैक्स” व विज्ञापन जारी व प्रकाशित किया गया है, जिसमें हाल में ही पार्टी विरोधी गतिविधि के कारण ”बाहर” किये गये पूर्व विधायक मन्तुराम पवार की फोटो ऊपर की लाईन में प्रमुखता के साथ प्रथम पंक्तियों में स्थान दिया गया है !
तो वहीं इस फ्लैक्स में भाजपा के जिला अध्यक्ष सहित कुछ वरिष्ठ पदाधिकारियों की भी फोटो बडी़ साईज में लगाई गई है। बाकी नेताओं की तस्वीर छोटे साईज में उनके कद और पद के हिसाब से लगायी गयी है।
सबसें बडा़ सवाल यह है कि आखिर पार्टी के किस व कौन नेता के इशारे पर यह फ्लैक्स व विज्ञापन प्रकाशित किया गया और पवार के फोटो के साथ भाजपा नेताओं की बडी़ – बडी़ तस्वीर कई सवाल खडा़ करती है। फिलहाल इसे लेकर अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आयी है ? पर पार्टी इसे लेकर कितनी गंभीरता से लेती है यह तो वक्त ही बतायेगा।

सांसद की तस्वीर भी गायब…!

खैर…, सत्ता नही है पर सत्ता का नशा आज भी इस कदर हावी है कि भाजपा नेताओं के खिलाफ आग उगलने वाले व निष्कासित नेता की फोटो फ्रंट लाईन में है और कांकेर लोकसभा के भाजपा सांसद ‘मोहन मंडावी” की फोटो खोजने से भी नही मिली…! पर इसमें कई व कुछ नेताओं व पदाधिकारियों की फोटो भी गायब है जो लंबे समय से पार्टी के लिए झंडा लहराया है लेकिन अभी जो फोटो व फ्लैक्स लगा व टांगा गया है उसमें कुछ की फोटो ”जबरन व जबर्दस्ती” के कारण लगाने की जानकारी मिली है ।

हाईकमान तक पहुंची शिकायत

भाजपा नेताओं के फ्लैक्स में मन्तु की फोटो की खबर पार्टी के नेताओं तक सोशल मीडिया के सहारे पहुंचने की खबर है और पार्टी नेता इसे लेकर कितने गंभीर है यह तो समय ही बतायेगा पर सांसद की फोटो नही और निष्कासित नेता की फोटो का मामला पार्टी फोरम में उठने की खबर है। हालांकि भाजपा के प्रदेश संगठन मंत्री के आगमन की खबर है जहां यह मुद्दा उछल सकता है।

Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button