*विनीत शर्मा
रा
यगढ़। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी की महत्वाकांक्षी योजना की खुलेआम धज्जियाँ उड़ाया जा रहा है। ताजा मामला बरमकेला जनपद के अन्तर्गत आने वाले कुछ ग्राम पंचायतो मे देखने को मिला जिसमें जीरापाली झीकीपाली और डोगरीपाली है, जहां एक तरफ सरपंच सचिव ओडीएफ घोटाले की स्वंय पुष्टि कर रहे है और गाँव मे भी उनकी निर्माण कार्यों मे भ्रष्टाचारी होने की गाथा गाँव में चर्चित है। वहीं गांव के लोगों ने बताया की शौचालय निर्माण नहीं होने से भारी समस्याओं का सामना करना पड रहा है तो वहीं बरसात दिनों सबसे ज्यादा परेशानी हो रही है।
आपको बता दे की शौचालयों निर्माण कार्य को ठेका देकर निर्माण कार्य करवाया गया है जिसमें गुणवत्ताहीन निर्माण कार्य करवाया गया है। जमीनी हकीकत की अगर बात करें तो आज भी पूर्ण रूप से शौचालय निर्माण नहीं करवा जा सका है। भौतिक अध्ययन करके देखे तो देखकर भय लगने लगता है। शासन की निर्धारित प्रोत्साहन राशि 12000 हजार रुपये है पर यहां महज 7-8 हजार रुपये मे ही शौचालय निर्माण करवा दिया गया है।
सरपंच से जब इस संबंध में जानकारी लेना चाहे तो बताया की शौचालय निर्माण हम लोगों ठेका देकर शौचालय निर्माण कार्य कराया गया है। तथा 14 वित्त की जानकारी चाही तो गोल मोल जवाब देने लगे वहीं इस तरह की खुले आम गडबड़ी करने मे उच्च अधिकारियों की सरंक्षण का भी साफ साफ अनुमान लगाया जा रहा है। तथा गांव में लोगों को हो रही परेशानियों का अनुभव लगाया जा सकता है की शौच करने महिलाओं को रोज दो-से तीन किलोमीटर अंधेरे में खुले में शौच जाने को विवश है। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि सरपंचों को बार बार बोलने के बाद भी शौचालय निर्माण नहीं करवाया जा रहा है तो और संम्बन्धित अधिकारियों के कान मे जूह तक नहीं रेंग रहा है।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.