विधायक के ललकार के बाद एन एच अमला आया हरकत में,पाली से कटघोरा के मध्य सड़क का मरम्मत कार्य प्रारंभ।

कोरबा (पाली)।पाली से कटघोरा सड़कमार्ग में जगह जगह हो चले जानलेवा गड्ढों से परेशानी तथा पानी बरसते ही सड़क कीचड़ से सराबोर हो जाना एवं सूखे में उड़ते धूल के गुबार से यातायात व पैदल चल रहे यात्रियों का सांस लेना दुश्वार हो जाना राष्ट्रीय राजमार्ग एन एच 111 की पहचान बन गई।
उक्त सड़क की खराब हालत पर संज्ञान लेकर कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल द्वारा राट्रीय राजमार्ग, लोक निर्माण विभाग, छत्तीसगढ़ राज्य सड़क विकास निगम एवं भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक लेकर मार्ग की अतिशीघ्र मरम्मत कराने के निर्देश जरूर दिए गए।लेकिन यह निर्देश उक्त विभागों पर बेअसर रहा। इस बीच बारिश की वजह से मुख्यमार्ग पर आवागमन करना और भी कठिन व खतरनाक साबित हो गया और आए दिन दोपहिया वाहन सवार हादसे का शिकार होने लगे। वहीं बड़ी वाहनों के फंसने से जाम की भी स्थिति निर्मित होने के कारण घँटों मार्ग बहाल होने का इंतजार करना पड़ता था।
खराब हो चुके सड़क की दशा इस कदर कि पाली से कटघोरा जाने पर बारिश व सूखे के दौरान गाड़ी चलाना तो दूर पैदल चलना भी लगभग असंभव सा प्रतीत हो चला। अंततः खस्ताहाल सड़क की हालत से अवगत हो क्षेत्रीय विधायक मोहित केरकेट्टा ने कमर कसी व विभागीय अनदेखी से क्षुब्ध सड़क सुधार की मांग को लेकर 2 दिवस के भीतर मरम्मत कार्य प्रारंभ नही होने पर आर्थिक नाकेबंदी स्वरूप आंदोलन की चेतावनी भी दे दी गई।
विधायक के इस ललकार का असर यह हुआ कि एन एच अमला हरकत में आया तथा आनन फानन में पाली से कटघोरा के मध्य निर्मित जानलेवा गड्ढों पर गिट्टी, बोल्डर व मुरुम डालते हुए सड़क सुधार एवं मरम्मत का कार्य प्रारंभ कराया गया है। वहीं जिले में संचालित कोयला खदानों से कोयला लेकर इस मार्ग पर चलने वाले भारी वाहनों का मार्ग कांग्रेस जनप्रतिनिधियों की मांग पर कटघोरा एसडीएम द्वारा आज से परिवर्तित भी किया गया है, जिसके तहत इस मार्ग के पूर्ण मरम्मतकाल अवधि के दौरान सभी कोयला लदी वाहनें बलौदा मार्ग होते हुए अपने गतव्य की ओर जाएगी।
बता दें कि जिले के विभागों का कामकाज इन दिनों काफी लचर हो चला है।जो प्रशासनिक कसावट से नही अपितु प्रतिनिधित्व कसावट से सुधार आ सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *