ये हैं ओमप्रकाश चौधरी।

भाजपाई आईएएस ओमप्रकाश चौधरी, प्रदेश भाजपा के नवोदित खरसिया से विधायक प्रत्याशी जिसने कलेक्टरी से इस्तीफा देकर नेतागिरी की राह पकड़ ली।

                                 कहते हैं  :-                                     “जो मेरा साथ देगा मैं उसका साथ दूंगा, और जो मेरा साथ नही देगा उसपर कहर बनकर टूटूंगा…!
देखिए वीडियो।

खरसिया विधानसभा के तपरदा में एक चुनावी सभा में भाजपा प्रत्याशी ओमप्रकाश चौधरी; अपने मतदाताओं को संबोधित कर रहे थे, अमूमन शौम्य दिखने वाले और आइएएस की डिग्रीधारी इस मानुष की शारीरिक भाषा से यह स्पष्ट परिलक्षित हो रहा है कि कितना दम्भी है।

अभी जीते भी नही है; पर इनकी गुंडई देखिए। इन्होंने खरसिया ब्लॉक के कई सरपंचों को बुला-बुलाकर धमकी दिया है कि, जीतूंगा तो भी और हारूँगा तो भी एक-एक को निपटाऊंगा। इन्होंने कहा है कि पंचायतों का फ़ाइल खोलवाकर सीधा 420 लगवाकर जेल भेजूंगा।

अब जनता ही इन जैसे असमाजिक तत्वों को राजनीति का सबक सिखा सकती है।

नेता की परिभाषा क्या?
          नेता की मर्यादा क्या?
कहर बनकर टूटूँगा !
            ऐसा तेरा वादा क्या ?
इससे तेरा इरादा क्या ?                *विनीत शर्मा

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.