किरीट ठक्कर
गरियाबंद। कलेक्टर श्याम धावड़े के निर्देशानुसार आज राजस्व, कृषि, सहकारी बैंक एवं नागरिक आपूर्ति निगम की संयुक्त टीम द्वारा जिले में संचालित खाद, बीज विक्रय केन्द्रों में छापामार कार्यवाही की गई है। क्षेत्र के किसानों द्वारा स्थानीय खाद, बीज विक्रय केन्द्रों के माध्यम से लगातार गुणवत्ताविहीन खाद, बीज प्राप्त होने की शिकायत मिल रही थी। जिसके मद्देनजर जिला प्रशासन द्वारा तीन दलों का गठन कर आकस्मिक निरीक्षण किया गया।
स्थानीय गरियाबंद में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व जे.आर. चाैरसिया, उप संचालक कृषि नरसिंग ध्रुव, सहकारी बैंक के नोडल अधिकारी धनराज पुरबिया, तहसीलदार राकेश साहू, नायब तहसीलदार समीर शर्मा, सहायक भूमि संरक्षक अधिकारी फागूराम कश्यप एवं उर्वरक निरीक्षक तुषार बड़ोले की टीम द्वारा लक्ष्मी बीज भण्डार, अशरा कृषि केन्द्र, हनुमान कृषि केन्द्र एवं कृष्णा खाद भण्डार कोचवाय में छापामार शैली में निरीक्षण किया गया।
निरीक्षण के दौरान खाद, उर्वरक, बीज एवं दवाईयों का नमूना लिया गया, जिसे प्रयोगशाला में जांच के लिए भेजा जायेगा। अशरा कृषि केन्द्र में उर्वरक नियंत्रण अधिनियम 1985 के तहत लायसेंस में दिये गये शर्तों के अनुरूप मापदण्ड पूर्ण नहीं होने के कारण दुकान को सील कर दिया गया। वहीं अन्य दुकानों को मूल्य, विक्रय अनियमितता, भण्डारण एवं अपूर्ण दस्तावेज होने से कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। नोटिस में सात दिवस के भीतर संतोषप्रद जवाब नहीं मिलने पर लायसेंस निरस्तीकरण की कार्यवाही की जायेगी।
अशरा कृषि केन्द्र गरियाबंद में अधिकारी
ज्ञात हो कि मैनपुर में भी मंगलवार को कृषि केन्द्रों में आकस्मिक निरीक्षण की कार्यवाही की गई थी। अनुविभागीय अधिकारी चैरसिया ने बताया कि इस तरह की कार्यवाही लगातार जारी रहेगी, ताकि किसानों को गुणवत्तापूर्ण, निर्धारित मूल्य और मानक सामग्री प्राप्त हो सके।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.