*हेमंत साहू
बालोद। जिला मे निवासरत लोगो जब बालोद नया जिला बना तो जिलावासियों ने बालोद के लिए तरह-तरह के सपने देखे किसी ने कहा हमर सुघर बालोद तो किसी ने कहा मोर बालोद लेकिन आज जिला के लोगो ने जिस बालोद के लिए सपने संजोये थे उनके सपनो को गहरा धक्का लगा जब शहर के चारो ओर अवस्था लोगो को देखने मिलती है शहर के बुधवारी बाजार तो बालोद के नगर पालिका के कार्य करने के रती है बुधवारी बाजार बालोद शहर के साथ आसपास के या फिर जिला मुख्यालय आने वाले लोगो का मुख्य जगह है ज्यादातर लोग बुधवारी बाजार और सदर रोड मे लेन-देन करते है जिस कारण यहा पर लोगो की भीड़ अन्य जगहो के मुकाबले ज्यादा लोग और वाहनो का आना-जाना लगा रहता है।
नगरी निकाय चुनाव आने वाले दिनो मे होने ही वाली है पिछले पांच सालो मे नगर पालिका के अध्यक्ष है। कांग्रेस के साफ और मिलनानुसार विकास चोपड़ा लेकिन विकास चोपड़ा शहर के हृदय स्थल के विकास से चुक गये और इसी चुक का खमियाजा आज बालोद शहर के नगर वासी भुगत रहे है, क्योंकि पार्किंग के समस्या के कारण रोज यंहा वाहन मालिको के बीच मे तू-तू मै मै व लड़ाई झगड़े आम बात हो गई है, लेकिन नगर पालिका के सत्ता पर काबिज लोगो के कानो मे कुर्सी वाली रुई का मजा लेने मे फुर्सत नही जबकी नगर पालिका मे बीते दिन विपक्षी पार्षदो के साथ सत्ताधारी पार्टी के पार्षदो के साथ विवाद की स्थिति बन गई थी।
नगर पालिका के मौजूदा अध्यक्ष श्री विकास चोपड़ा से मामले के संबंध मे जानकारी दी गई और लोगो के असुविधा के बारे मे बताई गई तो उन्होंने इस पर खेद जताते हुए कहा कि जगह की कमी के वजह से हम लोगो के इस समस्या की समाधान नही कर पा रहे है लेकिन अस्थायी तौर पर हम पास मे स्थित बालमंदिर है, जिसे हम पार्किंग हेतु लोगो के लिए खोलते है।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.