गरियाबंद। कौशल विकास कें नाम पर बीजेपी शासन काल मे गरियाबन्द जिले में भ्रष्टाचार को काफी बढ़ावा मिला है, विभागीय सांठगांठ कर जिम्मेदार लोगों ने अपने लोगों को सीधा लाभ पहुंचाया है, जिसका जीता-जागता सबूत गरियाबन्द जिले मे देखने कॊ मिल जायेगा।
युवाओ कॊ रोजगार के लिये सक्षम बनाने कौशल विकास योजना के तहत जिले के बाहर कीं संस्था कॊ कौशल विकास विभाग के मापदंड कॊ दरकिनार कर एक कमरे के संस्था मे 11 कोर्स का ट्रेनिंग सेंटर का पंजीयन कर एकतरफा लाभ पहुंचाने के लिये विगत 5 वर्षो मे आँख बन्द कर करोड़ो के कार्य इस संस्था रियल शिक्षण संस्थान; धवलपुर, शिव वाहिनी शिक्षण संस्थान; कोसमबुड़ा, छुरा कॊ दिया गया है।बीजेपी शासन काल मे नियमो, मापदंडो कॊ दरकिनार कर आदिम जाति विकास परियोजना गरियाबन्द के अंतर्गत जनपद पंचायत छुरा, मैनपुर, गरियाबन्द सीईओ ने एक तरफा कार्य आदेश जारी किया हैै; साथ ही जिला कौशल विकास अभिकरण ने भी आँख बन्द कर इस बीजेपी समर्थित संस्था जो जिला से बाहर किसी बीजेपी नेता की है औऱ स्थानीय बीजेपी नेताओ का कौशल विकास अभिकरण कार्यालय से सांठगांठ औऱ मिलीभगत कर इस संस्था कॊ लाखो के कार्यदेश जारी कर बंदरबांट किया औऱ जम कर पैसा बनाया है।
स्थानीय विभाग औऱ प्रशासन कें संरक्षण मे जमकर कमाया हैं। कौशल विकास कार्यालय संदेह कें दायरे मे गरियाबन्द स्थित कौशल विकास विभाग मे पदस्थ कर्मचारियो कें बीजेपी समर्थित नेताओ के संबंध औऱ मिलीभगत साथ कार्यो मे हिस्सेदारी की बू आ रही हैं कार्यालयीन स्टाफ वर्षो से एक हीं जगह पदस्थ हैं औऱ जिले मे विगत वर्षो कई बाहर के लोगों का वीटीपी पंजीयन कर जमकर काम किया गया है। जिले से बाहरी लोगों कॊ जिले मे वीटीपी पंजीयन करना भ्रष्टाचार कीं संलिप्तता की ओर इशारा करता है।

स्थानीय वीटीपी की उपेक्षा !

वही स्थानीय वी टी पी पंजीयन प्राप्त संस्थाओं कॊ कार्य देनें कें नाम पर एक भी प्रशिक्षण बेच नहीं दिया गया हैं सरकार बदलने कें बाद भी बी जे पी समर्थित इस नेता के संस्था कॊ पुनः कार्य देनें की तैयारी चल रही है, जिससे स्थानीय संस्थाओ ने आपत्ति जाहिर करते हुए मुख्यमंत्री से शिकायत की तैयारी चालू कर दी है, साथ एक कमरे के कागजी संस्था औऱ इसके सहयोगियो के विरूद्ध कार्यवाही कर पंजीयन निरस्त करनें की मांग की है। 15 साल लूट कें 16 वे की तैयारी पर रोक लगाने की मांग की है।वीटीपी पंजीयन मापदंडो कें विपरीत कौशल विकास योजना कें तहत पंजीयन हेतु इस शेडनुमा वीटीपी कॊ किस मापदंडो कें तहत पंजीयन प्राप्त हैं समझ से परे हैं इस वीटीपी मे बायोमेट्रिक उपस्थिति का पालन किया गया हैं या छूट दिया गया हैं क्या एक -दो कमरे कें संस्था मे 11 कोर्स का ट्रेनिग कैसे कर दिया गया इस वी टी पी कॊ नियमो मे खुली छूट देने वाले कौन जिम्मेदार हैं इसकी जिम्मेदारी कौन तय करेगा नियम कॊ शिथिल कर एकतरफा आर्थिक लाभ दिये जाने वाले अधिकारी कर्मचारी चिन्हित कर कार्यवाही किए जाने की मांग कांग्रेस के असंगठित कामगार (मजदूर) कांग्रेस के जिला अध्यक्ष काग्रेंस कमेटी गरियाबंद सुरेश मानिकपुरी ने असंगठित कामगार कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष आलोक पांडे से चर्चा उपरांत गरियाबंद जिले के प्रभारी मंत्री गुरु रूद्रकुमार को शिकायती पत्र सौंपकर कार्रवाई की मांग की है।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.