किरीट ठक्कर
गरियाबंद। नगर से लगे दर्रापारा से पांच वर्षीय बालिका रविवार दोपहर से लापता है ! बच्ची के परिजन सहित नागरिक बच्ची की कुशलता को लेकर आंशकिंत है। ईधर बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज होते ही पुलिस सक्रिय हो चुकी है, और तत्परता से बच्ची की खोज में जुटी है।
दर्रापारा को पुलिस छावनी में बदल दिया गया है।
जानकारी की अनुसार बच्ची की खोजबीन के लिए डाग स्क्वाड की मदद ली जा रही है, रात से नगर के आवागमन के रास्तों पर नाकाबंदी कर वाहनों की सघन जांच की जा रही है, इसके अतिरिक्त रायपुर से विशेष अन्वेषण टीम भी मौके पर आ चुकी है।

आई जी, कलेक्टर, एस पी, भी मौके पर पहुंचे

पांच वर्षीय बालिका धनमति के पिता लखन ध्रुव से मिलने सुबह कलेक्टर श्याम धावडे भी पहुंचे थे, उन्होने बच्ची के माता पिता को सांत्वना दी है, आई जी आनंद छाबडा, एस पी एम आर आहिरे भी मौके पर पहुंच पुलिस टीम को निर्देश देते रहे। इसके अतिरिक्त एडीशनल एस पी सुखनंदन सिंह राठौर, टी आई राजेश जगत, रक्षित निरीक्षक उमेश राय सहित बडी संख्या में पुलिस टीम जांच में लगी हुई है।
बच्ची के पिता लखन ध्रुव।
विदित हो की हाल में हुयी अलीगढ में बच्ची की हत्या से लोग बेहद विचलित है। दर्रापारा में छोटी बच्ची की गुमशुदगी की ये दुसरी घटना है। इससे पहले दामिनी नाम की 8 वर्षीय बच्ची के बलात्कार के बाद हत्या की घटना दशहरा के दिन प्रकाश में आई थी, तब दर्रापारा में रहने वाले एक युवक को बलात्कार व हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया गया था।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.