बग़ीचा विकासखंड के घुघरी ग्राम पंचायत का मामला

जशपुर। आज भले ही महिलाएँ पुरुषों की बराबरी कर रही हैं, हर क्षेत्र में महिलाएं पुरुषों को मात दे रही हैं बावजूद इसके आज भी महिलाएँ सुरक्षित नही हैं। जशपुर के बगीचा जनपद के घुघरी में पंचायत का काम ठीक से करने की सलाह पुरुष कर्मचारी को नागवार गुजरी और उसने महिला सरपंच की जमकर पिटाई कर दी।
दिव्या एक्का, सरपंच
जशपुर के बगीचा विकासखण्ड के ग्राम पंचायत घुघरी की सरपंच दिव्या एक्का ग्राम पंचायत मे पदस्थ रोजगार सहायक बीरस राम को हमेशा ठीक से काम करने और ड्यूटी के समय शराब न पीने की सलाह देती थी, लेकिन बीरस राम हमेशा शराब पीकर कार्यालय आता था और शराब के नशे में पंचायत के कार्यों में सहयोग ना कर व्यवधान उत्पन्न करता था।इस बात को लेकर पंचायत के अन्य जनप्रतिनिधि और कर्मचारी परेशान रहते थे।
कल सरपंच दिव्या एक्का अपने घर के पास खड़ी थी तभी रोजगार सहायक शराब के नशे मे वहां पहुँचा तब सरपंच ने उससे पंचायत संबंधी सवाल किया तो रोजगार सहायक आगबबूला हो गया और सरपंच की जमकर पिटाई कर दी।
शराब के नशे में धुत्त रोजगार सहायक बीरस राम की पिटाई से सरपंच दिव्या एक्का जब चीखने लगी तब अन्य ग्रामीण मौके पर पहुंचे और बीच-बचाव किया। सरपंच एवं अन्य जनप्रतिनिधियों का आरोप है कि रोजगार सहायक को हटाने ग्रामीण एवं जनप्रतिनिधि लंबे समय से मांग कर रहे हैं लेकिन आज तक उस पर कोई कार्रवाई नही हुई।
इस घटना के बाद ग्रामीण आक्रोशित हैं और उन्होंने रोजगार सहायक को जल्द हटाने की माँग की है, वहीं अब यह मामला थाने तक पहुँच चुका है और सरपंच ने रोजगार सहायक के खिलाफ शिकायत कर कड़ी कार्रवाई की मांग की है।
आपको बता दें कि रोजगार सहायक ही नहीं कई सचिवों की मनमानी से भी जनपद के अन्य पंचायतों के ग्रामवासी भी त्रस्त हैं। कई शिकायतों के बावजूद जांच के नाम पर न तो सचिव हटाए जाते हैं न रोजगार सचिवों पर कार्रवाई होती है महज खानापूर्ति कर मामले को रफा दफा कर दिया जाता है और समस्या जस की तस बनी रहती है।
Ad space

*दीपक वर्मा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here