Chhattisgarh

रायपुर पुलिस का हिट्लरशाही रवैया….!! सवाल पूछने पर दो छात्रों को मानसिक प्रताड़ना …?

 

रायपुर। वैसे तो हम रायपुर पुलिस के तत्परता की तारीफ करते हैं बड़े बड़े प्रकरण को जल्दी सुलझाने में माहिर रायपुर पुलिस में कुछ हिटलरशाही रवैया अख़्तियार करने वाले अधिकारी और जवान भी हैं।
कल की बात है शाम 7 बजे तेलीबांधा ओवर ब्रिज़ के नीचे से दो छात्र एक BA-LLB का दूसरा BA अंग्रेजी साहित्य का गुजर रहे थे, बाईक चलाने वाले छात्र ने हेलमेट लगाया हुआ था, वहां पर पुलिस जो हेलमेट नही लगाया उन पर कार्यवाई कर रही थी, दोनों छात्र इसी बीच एक पुलिस कॉन्स्टेबल को बिना हेलमेट वहां से थाना जाते हुए उससे सवाल किया आपको हेलमेट नही लगता क्या ? जवान ने जवाब दिया…नहीं … हम लोग को जरूरत नही है। क्यों पूछने पर जवान ने कहा जाकर वहां पर साहब बैठे हैं उनसे पूूछो।
दोनों छात्र सवाल पूछने वहां बैठे S.I. के पास गए और सवाल किया – “सर आप लोग को हेलमेट की जरूरत नही पड़ती क्या ? इस बीच S.I. ने उनकी तरफ ध्यान नही दिया। इससे एक छात्र ने मोबाइल निकाल कर विडियो बनाते हुए फिर सवाल किया। इससे S.I. भड़क गए और मोबाइल नीचे कर बोले इस बीच छात्र फिर सवाल किया। S.I. ने कहा तेरे को इतना ही शौक है विडियो बनाने का तो चल थाने, वहां बनाना विडियो। उसने एक जवान को कहा इनको थाने लेके चल, फिर दोनों छात्र उस जवान और S.I. के साथ थाने गये।
थाने में दोनों छात्रों को बिठाया और छात्र से मोबाईल छीनने की कोशिस की और कहा साले, और जवान ने छात्र से मोबाईल छिन लिया और थाने में बैठे जवानों से कहने लगा लिख इसके ख़िलाफ़ FIR साले को अंदर करता हूँ, मेरे सेे SST में आके बहस करता है, साले को छोडूंगा नही, सरकारी काम में डिस्टर्बेंस कर रहा है। फ़ोन करो अपने घर में दोनों कहने लगा। एक छात्र ने घर पे बताया इस बीच S.I. ने कहा साले तेरे को छोडूंगा नही तेरे ऊपर केस कर के तेरे को अंदर करवाता हूँ, देखना बेट्टा तेरे को तो आज रात भर यहाँ रखूँगा कल फिर मारते-मारते चौक तक ले जाऊंगा, लेकिन बेट्टा तेरे को छोडूंगा तो नई। देखना तेरा लाइफ बर्बाद हो जायेगा कह कर मानसिक रूप से प्रताड़ित करने लगा। इस बीच छात्र के पिता भी थाने पहुच गये जहाँ S.I. ने उन्हें भी सुनाने लगा छोडूंगा तो नही इसको, रात भर यही रहेगा। दोनों के पिता ने रिक्वेस्ट किया छोड़ने का तो S.I. ने कहा इसको डेढ़ महीना अंदर रहने से सब समझ आ जायेगा क़ानून।
पलकों के कई रिक्वेस्ट करने के बाद इंस्पेक्टर ने माफीनामा लिखो कहा S.I. के ऊपर है वो माफ़ करता है या नही और आखिर में छात्रों को मेंटली टॉर्चर के बाद पेरेंट्स के कहने पर S.I. से माफ़ी मांगना पड़ा।
छात्रों की गलती बहुत बड़ी थी, वो था पुलिस से सवाल पूछना…!
ये SHO PS नरेश पटेल तेलीबांधा थाना का मोबाइल नम्बर : 91 94791 91041

गौरव मुजेवार के fb से साभार।

Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button