छत्तीसगढ़ के बाद ओड़िसा में उत्पात मचाने की फिराक में थे नक्सली, कोशिश नाकाम।

रायपुर हाईवे क्राइम टाईम।

छत्तीसगढ़ के दन्तेवाड़ा में हुए नक्सल वारदात की सुर्खियों ने अभी अपनी कालिख भी नहीं पोंछ पाई थी कि; पड़ोसी राज्य ओड़िसा से सोशल मीडिया के माध्यम से आई एक खबर ने प्रशासनिक अमला सहित सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान लगा दिया ! मगर जागरूक तंत्र (मीडिया व जनता) एवं व्यवस्था में मुस्तैद जवानों की सतर्कता ने नक्सलियों की एक बड़ी नापाक कोशिश को नाकामयाब कर दिया।

व्हाट्सएप्प समूह “मैं बस्तर” में कुशल चोपड़ा, मोबाईल नम्बर 9425597733 के द्वारा जारी/प्रेषित खबर के हवाले से
“ओड़िशा जिले के गजपति में नक्सलियों के द्वारा कलवर्ट के नीचे लगाया गया 50 किलो का 2 लैंडमाइंस बरामद किया है। जिसे पुलिस द्वारा ध्वस्त करने की खबर आ रही है। अंदाजा लगाया जा सकता है कि नक्सलियों द्वारा बहुत बड़ी वारदात को अंजाम देने का षड्यंत्र रचा गया था, जिसे सुरक्षा बलों द्वारा नाकामयाब कर दिया गया।”
अवगत हो कि ओड़िसा के गजपति जिला में दिनांक 11/03/2019 को लोकसभा का चुनाव होने जा रहा है। किसी बड़ी साजिश के तहत नक्सलियों ने जिला के मोहना ब्लॉक अदबा थाना क्षेत्र की पनिगना कलभट (कलवर्ट) के नीचे बघुना डिविजनल कमेटी की ओर से 50 किलो की दो लैंडमाइन होने की जानकारी मिलने पर गजपति पुलिस को घटना स्थल की ओर रवाना कर; काम्बिंग ऑपरेशन बड़ा दी गई।
वहीं दंतेवाड़ा से अब नक्सल हमले की धुंध छंटने के साथ ही इस बात का भी खुलासा होते जा रहा है कि; नक्सलियों के मंसूबे बड़े ही खतरनाक थे और वे झीरम कांड की पुनरावृत्ति से कमतर भी नहीं थे।
एक खबर के मुताबिक – श्यामगिरी क्षेत्र में नक्सलियो ने कई जगह एम्बुश लगाया था। भीमा मंडावी के वाहन को ब्लाष्ट करने के साथ-साथ श्यामगिरी गोंगपाल मार्ग में भी एम्बुश मिलने की पुष्टि हुई है।
इसी मार्ग से छविंद्र कर्मा श्यामगिरी आने वाले थे। अभी भी ड्रम से कनेक्ट 200 वायर है रोड पे मौजूद। ड्रम में बारूद होने की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता है।

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *