रायपुर। 29 मार्च को बारनवापारा के अभ्यारण्य में बारनवापारा अभ्यारण्य में तीर कमान से फारेस्ट गार्ड को हमला करने वाला आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है आरोपी का नाम देव कमार है। आरोपी, पिथौरा थाना क्षेत्र के कमार डेरा का रहने वाला है।
आरोपी युवक
दो दिन पूर्व आरोपी; शिकार करने के उद्देश्य से बार क्षेत्र में तीर कमान लेकर पहुंचा रहा होगा कि वन्यजीव समझ कर फारेस्ट गार्ड पर तीर चलाकर गंभीर रूप से घायल कर दिया।

घटना से घबराए शिकारी मौके से हो चुका था फरार…

अधिकारिक जानकारी के अनुसार बारनवापारा अभयारण्य क्षेत्र में लगातार वन्य जीवों का शिकार होने की शिकायत पर वनकर्मी गश्त कर रहे थे। इस दौरान लोगों को जंगल में संदिग्ध रुप से घुमते हुए कुछ लोग दिखे थे। जिन्हें पकड़ने की कोशिश में वनकर्मी लुकते-छिपते जा रहे थे। झाड़ियों के बीच से पैरों की आहट पाकर एक शिकारी ने एक पेड़ के पीछे छुपकर वनरक्षक योगेश्वर सोनवानी को तीर कमान से वार कर दिया और जब तीर वनरक्षक को लगने का आभास हुआ तो मौके से भाग खड़े हुए थे।
तीर लगने से वनरक्षक गंभीर रूप से घायल होकर गिर पड़ा। साथ गए चौकीदार रामजी को वनरक्षक ने आवाज लगाई। चौकीदार रामजी ने वनरक्षक को घायल देखकर अधिकारियों को जानकारी दी। बार नवापारा अभ्यारण्य से एंबुलेंस से आनन-फानन में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पिथौरा ले गए। स्थिति की गंभीरता को देखते हुए चिकित्सकों ने उसे तत्काल रायपुर रिफर कर दिया। तीर वनरक्षक के पीठ में लगी थी। उसकी हालत नाजुक बनी हुई है।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.