रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल इस बार बस्तर लोकसभा सीट से युवा नेतृत्व चाहते हैं. जिसके बाद 3 नाम हरीश कवासी, शंकर सोढ़ी, छविंद्र कर्मा, लोगों के जुबान पर चर्चा का विषय बना हुआ है।
शंकर सोढ़ी
शंकर सोढ़ी जो अविभाजित मध्यप्रदेश के कांग्रेस सरकार में स्वतंत्र प्रभार मंत्री रह चुके विभाजित छत्तीसगढ़ में केबिनेट मंत्री और उन पर भ्रष्टाचार के एक भी आरोप नहीं है। शंकर सोढ़ी के बेदाग एवं स्वच्छ छवि के चलते कांग्रेस आलाकमान बहुत जल्द इस नाम पर भी निर्णय ले सकती है।
हरीश कवासी लखमा
हरीश कवासी वह नाम है जो जनहित के मुद्दों पर हमेशा बोले एवं आदिवासियों के लिए आवाज उठाते रहे हैं। छविंद्र कर्मा शहीद महेंद्र कर्मा के सुपुत्र है झीरम घाटी हमले में इनके पिता शहीद हो गए थे हाल ही में इनके भाई आशीष कर्मा को कांग्रेसी सरकार ने डिप्टी कलेक्टर बनाया है।
छविंद्र कर्मा
सूत्रों के अनुसार इन तीनों नाम पर राहुल गांधी विचार कर रहे हैं। अब देखना यह है की इन युवाओं में से कांग्रेस किस पर दाव खेलती है।

साभार : M Baroi Babu.

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

2 thoughts on “ट्राइंगल में बस्तर लोकसभा सीट..!”

Leave a Reply

Your email address will not be published.