रायपुर
चमड़े की ज़ुबान है साहब, कब फिसल जाए कोई नहीं जानता है। एक हैं चरण दास महंत, इन्हें गांधी दरबार मे झाड़ू लगाने से कोई परहेज नहीं तो इनके पिछलग्गू कवासी भी कम नहींचाटुकारिता और गांधी परिवार के प्रति स्वामिभक्ति में तो ये कांग्रेसी श्वान को भी पीछे छोड़ दिए हैं।
कांग्रेस के एक और मंत्री महोदय हैं, शिव डहरिया, इन्होंने तो जबानी बम से सीधे-सीधे प्रधानमंत्री के दौड़ में शामिल राहुल गांधी के चिथड़े उड़ा दिए थे…! लेकिन, निशाना कहीं और लग जाने का अहसास होने पर वापस उसी (जुबान से) बम को उसके पिता को ओर फेंक दिए। कई मौक़ों पर यह ज़ुबान का फिसलना बड़े मुसीबत का सबब बन जाता है और मामला सियासती हो तो फिर मुश्किल…
ngp के याज्ञवल्क्य जी ने इस संबंध में लिखे हैं प्रदेश के चर्चित मंत्री शिव डहरिया का यह बयान वायरल हो रहा है जिसमें वो राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का नाम लेकर कर रहे है – “राहुल गांधी के बारे में तो आप सब जानते हैं बम से उड़ा दिया गया था, उनके शरीर के चिथड़े चिथड़े उड़ गए”
देखिए वीडियो :

हालांकि नगरीय निकाय मंत्री शिव डहरिया का भाषण लंबा रहा होगा, लेकिन बारह सेंकड के उनके भाषण का अंश सोशल मीडिया पर ख़ूब वायरल हो रहा है।
स्थल में उपस्थितजनों के अनुसार आखिर में मंत्री जी को ध्यान आ गया था कि उन्हे राहुल नही राजीव कहना था, और उन्होने अंत में उन्होंने अपनी यह भयंकर भूल सुधार लिया…।

साभार : newspowergame.com

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.