बिलखते बच्चों की नहीं सुनी पुकार तोड़ दिया घर…! एक्सक्लुसिव वीडियो के साथ…

*हेमन्त कुमार साहू।
बालोद। जिले के ग्राम धनेली के एक परिवार का घर इस तरह पंचायत द्वारा तोड़ दिया गया की उन्हें बच्चों की बिलखती पुकार भी सुनाई नहीं दी। अब यह परिवार जनदर्शन में अपनी शिकायत लेकर पहुंचा है एवं यह परिवार बेघर हो चला है सर्दी के मौसम में सर छुपाने के लिए जगह नहीं है।

शिकायत लेकर पहुँचे परिवार

शिकायत लेकर आये परिवारों ने बताया कि ग्राम पंचायत द्वारा गांव के पहुंच मार्ग में स्थित उनके घर को अतिक्रमण के नाम से मकान तोड़ दिया गया है परिवारों का कहना है कि हम लोग भूमिहीन है। 25 साल पहले राजीव मिशन के तहत डेढ़ डिस्मील पंचायत द्वारा यह जमीन रहने के लिए दिया गया था। 25 सालों से किसी भी प्रकार की कोई परेशान नहीं हो रहा थी। लेकिन गावं के वर्तमान सरपंच भोजराम साहू द्वारा व्यक्तिगत दुश्मनी के चलते हमारे मकान को अतिक्रमण है। कहकर तोड़ दिया है। जिसके वजह तीन परिवार के 20 लोग बेघर हो गये है परिवारों ने जनदर्शन में ज्ञापन सौंप उचित कार्रवाई की मांग करते हुए घर की मांग की।

मीडिया को समस्या बताते परिवार

परिवारों का यह भी कहना है कि उन्हें किसी तरह की कोई नोटिस प्राप्त नहीं हुई है जिसके कारण वह तैयार नहीं थे अब उन्होंने आगे बताया कि घर में बच्चे की तबीयत खराब थी और घर में दवाइयां भी रखी थी परंतु सामान को भी नहीं निकलने दिया गया।

 पीड़ित परिवार

पीड़ित परिवार ने बताया कि गुरूर तहसील में इस मामले के संबंध में पेशी भी चल रहा था जिसमें तीन बार पेशी हमारे पक्ष में गया। जिसके बाद कोई नोटिस नहीं आया था। और आज बिना नोटिस के मकान तोड़ दिया गया। जिससे पूरा परिवार बेघर हो गये है। ठंड के मौसम में सर ढ़कने की कोई जगह नहीं है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *