CrimeHarassment

गुरु के दामन में दाग। खेल के गुर सिखाते-सिखाते, खिलाने लगा गुल …

मानव जीवन में शिक्षा का बड़ा महत्व होता है, किसी भी व्यक्ति के जीवन में शिक्षित और संस्कारित होने के लिए गुरु का बड़ा महत्व हैं, वैसे तो माँ को जीवन काल की पहली गुरु का दर्जा प्राप्त है लेकिन उत्तरोत्तर प्रगति हेतु उच्च शिक्षा प्राप्त करने के लिए एक गुरु का मार्गदर्शन काफी महत्त्व रखता है। गुरु शिष्य की यह परम्परा अनादिकाल से चली आ रही है। प्राचीन समय में गुरु का बड़ा महत्व था, गुरु की महिमा को लेकर संत कबीर दास जी का यह दोहा "गुरु गोविंद दोऊ खड़े काके लागू पाय..." बताता है कि गुरु का दर्जा भगवान से भी श्रेष्ठ होता है। मगर, अब यही भगवान वासना का शैतान बन चुका है। बालोद hct : बालोद थाना क्षेत्र के एक गांव में एक (sports teacher) शिक्षक का जो विद्यर्थियों को खेल के भी गुर सिखाते हैं; के द्वारा खेल के गुर सिखाते सिखाते गुल खिलाने का मामला सामने आया है। बात तब उजागर हुई जब एक छात्रा की शिकायत प

Read More
ChhattisgarhHarassment

महिला आरक्षक का खौफ : पल–पल मौत की ओर अग्रसर पीड़ित दंपत्ति…

राजधानी रायपुर स्थित सरस्वती नगर थाना में पदस्थ एक महिला आरक्षक की करतूत के चलते समूचा छत्तीसगढ़ के पुलिस की वर्दी और उसकी कार्यप्रणाली पर फिर से एक बार ऊंगली उठ रही है। खाकी के सितम का यह कोई पहला मामला नहीं है, मीना खलखो हत्याकांड, पुलिस हिरासत में पंकज बेक की हत्या में शामिल आरोपी पुलिस अधिकारी; विनीत दुबे, मनीष यादव, प्रियेश जॉन, लक्ष्मण राम व दीन दयाल सिंह सहित दर्जन भर से अधिक पुलिसकर्मियों से लेकर बस्तर में सैकड़ों निर्दोष आदिवासियों की हत्या के आरोपी पूर्व आईजी, शिवराम प्रसाद कल्लूरी जैसे इन वर्दी वालों ने बहुतेरे ऐसे कृत्य को अंजाम दिया है जिनके गुनाह की दास्तां आज भी न्यायालय की चौखट में इंसाफ की भीख मांगते बेबस एवं लाचार खड़ा है। इसे भी पढ़ें : "पुलिस रिफॉर्म की दरकार। लेकिन बेपरवाह है सरकार…"  रायपुर hct : रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय के सामने सरस्वती नगर थाना में पदस्थ एक महिल

Read More
ChhattisgarhHarassment

फर्जी पत्रकार की पोल खुलने से भूल गया अपनी औकात !

"लबादा में लिपटा हर व्यक्ति मक्कार ही होता है।" ध्यान से इस वीडियो को देखिए, एक फर्जी पत्रकार को भयादोहन कर अवैध वसूली के चलते आक्रोशित ग्रामीणों ने इसकी कैसी अवभगत किया है। बताया जा रहा है कि एक अपंजीकृत वेब पोर्टल में खुद को पत्रकार बताकर शासकीय कर्मचारियों एवं जनप्रतिनिधियों का भयादोहन कर अवैध वसुलीकर्ता, सरेआम ग्रामीणों से मार खाने वाला लबादे में लिपटा यह शख्स, बालोद जिला के गुरुर जनपद के तहत ग्राम परसुली निवासी विनोद नेताम है। https://youtu.be/buXnjQbJ5-k रायपुर hct : बालोद जिला अंतर्गत गुरुर तहसील के तहत ग्राम परसुली निवासी विनोद नेताम; किसी समय में एक-एक रुपयों के लिए मोहताज, थोड़े से ज्ञान अर्जन के सहारे छोटा मोटा काम करते हुए अचानक ग्राम फागुनदाह के एक युवा छात्र नेता पूनम साहू की कृपादृष्टि से पत्रकारों के संपर्क में आया और अपने अल्प ज्ञान के चलते जैसा कि अमूमन 75% तथाकथित पत...

Read More
Harassment

भर्राशाही : कलेक्टर के आदेश को ठेंगा !

बालोद hct : छत्तीसगढ़ ऐसा एकलौता राज्य है जहां धान की फसल को लेकर राज्य की राजनीतिक सरगर्मियों का अपना ही एक अलग जलवा होता है। "धान का कटोरा" के नाम से विख्यात छत्तीसगढ़ की धरा पर हर वर्ष धान की बम्फर पैदावार होती है और इतनी पैदावार होती है कि हमारे सिस्टम को होश तक नही रहता है। प्रति वर्ष धान को किसानों से खरीदने के बाद मिलरो के द्वारा उठाव की जरूरत होती है। इस वर्ष भी सरकार ने जिला प्रशासन के माध्यम से जिला के समस्त सेवा सरकारी समितियों के संचालन की जिम्मेदारी संभालने वालों को विगत 20 दिनों पहले तीन दिन के भीतर धान उठाव का आदेश दिया जा चूका है लेकिन भर्राशाही और कमीशनखोरी का आलम यह कि तीन दिन तो क्या आज दिनांक तक दर्रा सोसायटी में धान का उठाव नहीं हो रहा है ! जिला कलेक्टर महोदय के द्वारा जारी आदेश के बाद भी जिला के गुरूर विकासखंड क्षेत्र के दर्रा सेवा सहकारी समिति में 2300 क्विंटल धान

Read More
ChhattisgarhHarassment

अब पंच ‘परमेश्वर’ नही रहे…!

"पंच के दिल में ख़ुदा बसता है।" शायद इसीलिए; मुंशी प्रेमचंद ने अपनी कहानी का शीर्षक "पंच परमेश्वर" रखा रहा होगा। लेकिन अब पंच "परमेश्वर" नहीरहे ! मुंशी प्रेमचंद की कहानी पंच परमेश्वर में जब जुम्मन मिया की पत्नी और उसकी खाला के साथ अनबन हो जाता है तब जुम्मन का लंगोटिया अलगू ही पंच बनकर न्याय की मिसाल कायम करता है। लेकिन, कहानी और वास्तविकता में जमीन आसमान का फर्क होता है। अब के पंच ना तो अलगू की तरह होते हैं और न ही कोई सरपंच परमेश्वर। बालोद hct : ऐसा कोई नेता नहीं, जिसने जनता को ठगा नहीं। प्रस्तुत उदाहरण किसी भी आम या खास नेता के लिए नहीं कही गई है बल्कि मौजूदा सिस्टम की व्यवस्था के मद्देनजर यह बात जनता के द्वारा इन दिनों फरमाई जाती है। हालांकि देश में ईमानदार नेताओं की कमी नही है जिसके बाद जनता के मन इस तरह से धारणा बने रहना निश्चित तौर पर चिंता का विषय है। पंचायती राज व्यवस्था के अंतर्...

Read More
HarassmentNational

लॉक अप में चौथे स्तंभ का चीर हरण। नंगा हो चुका लोकतंत्र …

किसी की बच्ची पूछती है कि "पापा, तुम्हारे कपड़े क्यों उतारे गए ? तो; किसी की "बच्ची रात भर अपने पिता के चीखें सुनती रही"… महज कुछ ही दिन पहले मध्य प्रदेश के सीधी जिला में तकरीबन दर्जन भर लोगों को निर्वस्त्र थाने में बैठा दिया गया था उनमे से कोई कैमरामैन था तो कोई रंगकर्मी, कोई आईटीआई कार्यकर्ता था तो कोई एक कांग्रेस का छुटभैया भी था और था तो उसमे एक पत्रकार भी। उनका दोष क्या था और उन्हें नग्न क्यों किया गया, यह बताने की जरुरत तो नहीं फिर भी यहाँ उस बात का जिक्र करना इसलिए भी आवश्यक है क्योंकि पत्रकारों के साथ जो कश्मीर में हो रहा था / है वही अब देश अन्य राज्यों में हो रहा है और कश्मीर के बाद तो हमारे छत्तीसगढ़ प्रदेश का ही नम्बर आता है। खैर ... मैंने ऊपर लिखा है कि जिन्हें उठाया गया था; उनमें पत्रकार भी शामिल था / है और सीधी की दास्तां यह कि, जिला के एक विधायक हैं नाम है "केदारनाथ शुक्ल

Read More
ChhattisgarhHarassment

आरक्षक ने लगाए पुलिस अधीक्षक पर संगीन आरोप और नौकरी से दिया इस्तीफा।

 आत्महत्या करने निकला था पत्नी ने सम्हाला बालोद hct। जिला पुलिस के एक आरक्षक अर्पण जैन क्रमांक 1514 ने पुलिस विभाग से इस्तीफा दे दिया है और पुलिस विभाग पर कई ऐसे संगीन आरोप लगाए हैं जिससे पुलिस विभाग की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह उठने लगी है। मीडिया से रूबरू होते हुए आरक्षक ने बताया कि जब से पदोन्नति की चर्चा विभाग में हुई है, तब से लेन-देन की प्रक्रिया जोरों पर है और मुझे पदोन्नति के नाम पर 200000 रुपए मांगा जा रहा था। जब मैं पदोन्नति सम्बंधित विनती करने गया था तो मुझे जातिसूचक गाली-गलौज किया गया। मैं नौकरी छोड़ सकता हूं पर अपनी परिवार और जाति सम्बंधित गाली गलौज स्वीकार नहीं कर सकता। आरक्षक अर्पण जैन ने बताया कि पुलिस विभाग की प्रताड़ना से मैं त्रस्त था और आत्महत्या करने निकला था पर मेरी पत्नी ने सम्हाल लिया। पदोन्नति की मांग लेकर 2 लाख रुपए की मांग आरक्षक अर्पण जैन ने बताया कि जब से पदो

Read More
ChhattisgarhHarassment

टोनही प्रताड़ना (I) पुरानी बस्ती थाना को है किसी बड़े प्रकरण का इंतजार !

छत्तीसगढ़ प्रदेश को अस्तित्व में आए 21 साल पूरा हो चुका है, यदि इंसानी नजरिए से देखा जाए तो इस पड़ाव में पहुँचते - पहुँचते किसी इंसान का बच्चा अपनी यौवन की अंगड़ाई के रहा होता, लेकिन प्रदेश; अपने पिछड़ेपन के दंश से आज तक उबार नहीं पाया है और इस पिछड़ेपन की वजह से ही अन्धविश्वास की काली परछाई से आज तलक इस प्रदेश को मुक्ति नहीं मिल पाई हैं। हालाँकि अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के अध्यक्ष डॉ. दिनेश मिश्र; लम्बे अर्से से इस कुरीति के खिलाफ अभियान छेड़ रखे हैं मगर फिर भी अभिशाप के रूप में मिली टोनही (डायन) का अन्धविश्वास पीछा छोड़ने का नाम नहीं ले रहा है। प्रताड़ित युवक के खिलाफ कार्रवाई करने से कतरा रहा सम्बंधित थाना ! रायपुर (hct)। पुरानी बस्ती थाना क्षेत्रान्तर्गत वामनराव लाखे वार्ड नम्बर 66 कुशालपुर में मोहल्ले का एक युवक गिट्टी खदान कहे जाने वाले एरिया में एक महिला को विगत 6 महीने से टोनही कहकर

Read More
ChhattisgarhHarassment

गुरु घासीदास की पूजा करने पर परिवार सहित महिला का समाजिक बहिष्कार।

पीड़ित परिवार ने कलेक्टर से लगाई न्याय की गुहार रायगढ़। सारंगढ़ ब्लॉक में एक समाज की महिला और उसके परिवार को उसके समाज के लोगों ने इसलिए बहिष्कृत कर उसका हुका-पानी बंद कर दिया है क्योंकि वे अपने समाज के आराध्य के अलावा बाबा गुरुघासी दास की पूजा-अराधना करते हैं। पुलिस में शिकायत के बाद भी कुछ कारवाई नहीं होने पर पीड़ित परिवार ने कलेक्टर को आवेदन देकर न्याय की गुहार लगायी है। सारंगढ़ तहसील अंतर्गत ग्राम गोड़म में श्रीमती रम्मा बाई साहू 55 वर्ष अपने पति पिडनाथ और बेटे-बहु व पोते के साथ रहते है। इनके परिवार में कुल 7 सदस्य हैं। बरसों से यह परिवार गांव में अपने समाज के साथ मिलजुल कर रहता था और सामाजिक रूप से शादी-विवाह, दशकर्म आदि कार्यक्रमों में शामिल होकर एक साथ खान-पान करते आ रहा था। मगर विगत 27 अक्टूबर से उसके परिवार के किसी भी सदस्य को सामाजिक कार्यक्रमों में शामिल होने से मना कर दिया गय

Read More
ChhattisgarhHarassment

Harassment : प्रेमजाल में फांसकर करता रहा शारीरिक शोषण।

अंतरंग पलों का वीडियो बनाकर करने लगा भयादोहन बलौदाबाजार (hct desk) भाटापारा पुलिस ने एक युवती की शिकायत पर भाटापारा के गोल्डी ऊर्फ अविनाश शुक्ला नामक व्यक्ति को आज जेल भेज दिया है। आरोपी पर आरोप है कि; उसने पीड़िता के साथ तीन सालों से शारीरिक संबंध बनाते हुए फोटो और वीडियो रिकॉर्ड कर लिए थे, जिसे दिखाकर वह ब्लैकमेल करता रहा। फोटो और वीडियो को वायरल करने की धमकी देते हुए उसने महिला से 3 लाख रूपए, सोने-चांदी के जेवर और मोबाइल भी रख लिए। इतना ही नहीं, बल्कि इतना सब कुछ लेने के बाद भी वह शारीरिक शोषण करता रहा। पीड़िता का कहना है की जब उसने पहली बार शारीरिक संबंध बनाए थे, तब उसे पता नहीं था कि आरोपी युवक ने उसके वीडियो और फोटो बना लिए हैं। काफी दिनों बाद जब उसने वायरल करने की धमकी दी, तब पीड़िता को अहसास हुआ कि आरोपी ने खुफिया तरीके से उसके वीडियो और फोटो खींचकर अपने पास रख लिए हैं। इन्हीं

Read More