17.35 लाख पर ईयर पैकेज पर हुआ है 6 बच्चो का सभी केमिकल ब्रांच के है ।

इस साल NIT रायपुर का ये हाइएस्ट पैकेज पर केम्पस प्लेसमेंट है।

यह पहला मौका है जब भारत पेट्रोलियम लिमिटेड द्वारा रायपुर, नागपुर और भोपाल एनआईटी से सीधे जॉब प्लेसमेंट दिया गया।

रायपुर। इस साल राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान का नवम दीक्षांत समारोह दिल्ली एनआईटी गवर्निंग बॉडी के प्रेसिडेंट, पद्मश्री प्रो. संजय गोविंद के मुख्य आतिथ्य में शनिवार को आयोजित हुआ जिसमें कुल 1,138 प्रतिभावान छात्राओं को यह डिग्री मिलनी थी मगर अपेक्षाकृत कुल जमा 693 विद्यार्थियों की संख्या ही रही जो चौकाने वाला एवं इतने बड़े आयोजन का शांति से निपट जाना बुद्धिजीवियों के बीच चर्चा का विषय बन गया।
      इस समारोह में टॉपर्स के मध्य 24 गोल्ड और 23 सिल्वर मेडल बांटे गए। ऐश्वर्या श्रीवास्तव को दो गोल्ड मेडल से नवाजा गया, वहीं सुश्री आयुषी भी इस मेडल के हकदार रहीं।

छत्तीसगढ़ के छोटे से कस्बाई नगर सिमगा का गौरव, शिवम भोंसले पिता रणजीत भोंसले ने रायपुर के राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी महाविद्यालय से इसी वर्ष; केमिकल इंजीनियरिंग क्लियर किया और कैम्पस प्लेसमेंट में उसे भारत सरकार की कम्पनी भारत पेट्रोलियम लिमिटेड कोच्चि रिफायनरी में जॉब मिला।

      एनआईटी रायपुर का यह इस साल का सभी डिपार्टमेंट में उच्चतम पैकेज वाला प्लेसमेंट रहा, खासकर कोर सब्जेक्ट वालो के लिए यह गर्व का विषय रहा ।
इस साल केमिकल इंजीनियरिंग के शिवम भोंसले, अम्बाडी अरविंद, कोमल देवांगन, इमरान खान, शुभी सक्सेना और नैनिका पनकर वो 6 छात्र है जिन्होंने NIT Raipur के सभी डिपार्टमेंट में हाइएस्ट पैकेज हासिल किया।
अलंकरण समारोह में शिवम के साथ पहुंचे उनके पिता श्री रणजीत भोंसले और मम्मी श्रीमती भोंसले।
  इस अवसर पर शिवम के पिता श्री रणजीत भोसले ने कहा :- “इस दीक्षांत समारोह में शामिल होने का अवसर मिला एक पालक होने के नाते बेटे की सफलता आखों को खुशी और संतुष्टि से नम करने वाली साबित हुई।”

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.