ChhattisgarhCrime

ब्रेकिंग:-बिलासपुर विधायक के खिलाफ केस दर्ज, धारा 144 उल्लंघन का मामला। आखिर कौन जिम्मेदार,विधायक या पुलिस?? ग्राउंड से रिपोर्ट..!!

बिलासपुर (hct)। जब से छत्तीसगढ़ प्रदेश में लॉक डाउन है। तब से जनता एवं सरकार में कशमकश देखने को मिल रही है। ऐसी ही एक घटना आज बिलासपुर में भी हुई। जहां बिलासपुर विधायक शैलेश पांडे ने जनता को राशन वितरण करने हेतु कदम उठाएं एवं पुलिस प्रशासन भी सुरक्षा के दृष्टि से संलिप्त रहे लेकिन भीड़ इतनी बढ़ गई कि उल्टा विधायक शैलेश पांडे पर केस दर्ज हो गया। आखिर क्या है मामला ? इसे हम इस तरीके से देख सकते हैं।

कुछ सवाल जिनके उत्तर आपको सोचने होंगे और हम कुछ के देने की कोशिश करेंगे

  1. विधायक कार्यालय में इतनी भीड़ इकट्ठा कैसे हुई।
  2. जिला और पुलिस प्रशासन का सूचना तंत्र क्या काम कर रहा था
पुलिस भी सवालों के घेरे में !

विधायक के बंगले पर जमा भीड़ को देखकर यह भी समझ में आ रहा है कि पुलिस ने लापरवाही बरतने में कोई कोताही नहीं छोड़ी है. क्योंकि जब पूरा शहर बंद है. किसी को भी इस तरह भीड़ में निकलने की इजाजत नहीं है, तो विधायक के बंगले तक लोगों की ये भीड़ जुटी कैसे ? क्या इस भीड़ को आने से नहीं रोका गया ? अगर नहीं रोका गया तो क्यों नहीं रोका गया ? धारा-144 का उल्लंघन लोगों को करने कैसे दिया गया ? क्या पुलिस लोगों की इस भीड़ को विधायक बंगले तक जाते हुए नहीं देख पाई ?

ऐसे तमाम सवाल हैं जो पुलिस की कार्यप्रणाली को उजागर कर रहे हैं.

3.आखिर जिम्मेदार कौन…?

देखिये विडियो में सब कुछ और तय करे गलत कौन है:-

बिलासपुर में जरूरतमंद लोगों की मदद करने शैलेश पांडे आगे आए हैं। एक जनप्रतिनिधि होने के नाते इस बंद के दौरान गरीब, रोजी मजदूर, रिक्शा चालक और भिक्षुक वर्ग भूखा ना रहे इस उद्देश्य से बिलासपुर विधायक शैलेश पांडे लगातार उन्हें राशन का पैकेट वितरित कर रहे हैं। इसके लिए उन्होंने अपना पर्सनल फोन नंबर भी सार्वजनिक कर दिया है।

राशन वितरण की सूचना पाकर बड़ी संख्या में लोग वेयरहाउस रोड स्थित उनके कार्यालय में पहुँचे, भारी भीड़ को नियंत्रित करने विधायक शैलेश पांडेय जी ने तत्काल पुलिस एवं जिला प्रशासन को जानकारी दी और खुद ही स्पीकर मे जनता से आग्रह किया कि भीड़ ना लगाए, अपने अपने घर जाए, आपके वार्डो में ही हमारी ओर से राशन पहुंचाया जाएगा। लेकिन, पुलिस प्रशासन और जिला प्रशासन ने विधायक जी के उपर उल्टा एफआईआर दर्ज कर दिया।

पुलिस प्रशासन बिलासपुर की जनता को डंडा खिला रही है और विधायक शैलेश पांडेय जी बिलासपुर की जनता को राशन और खाना खिला रहे है। सवाल ये है कि विधायक कार्यालय में इतनी भीड़ क्यो आई ?

क्या जिला प्रशासन गरीब, रोजी मजदूर ,रिक्शा चालक और भिक्षुक वर्ग को राशन उपलब्ध नही करा पा रही है ?

Vineet Sharma

2017 से पत्रकारिता की शुरुआत की, पढ़ना और लिखना शौक,त्वरित घटनाक्रम,राजनीतिक एवं शैक्षिक गतिविधियों पर सहजता और सटीकता से समाचार लेखन, राष्ट्रीय डिजिटल मीडिया NEWJ के लिए सिटी रिपोर्टिंग की भी जिम्मेदार, रायगढ़ जिले में हाईवे क्राइम टाइम के जिला ब्यूरो चीफ के पद पर नियुक्त।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button