जाति बदलकर कर रहा था नौकरी, मामले का खुलासा होने से किया बर्खास्त।

बलौदा बाजार। बहरा, विकलांग प्रमाणपत्र बनवाकर नौकरी करने का मामला बलौदा बाजार में शिक्षा विभाग का मामला प्रकाश में आया। कैफ़ियत यह है कि शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला बया में प्राचार्य पद पर पदस्थ शत्रुधन लाल पटेल ने शासन को गुमराह करते हुये अपनी जाति अघरिया (पिछडी) जाति को अगरिया(आदिवासी) फर्जी बनवाकर पेश करते हुये नौकरी का लाभ ले रहा था। जिसकी शिकायत उच्च स्तरीय जांच कमेटी से किये जाने पर मामला का खुलासा हुआ।

पिथौरा तहसील के डीघेपुर निवासी फर्जी शिक्षक शत्रुघन पटेल का बड़ा भाई होसराम पटेल भी 10 वर्ष पहले बर्खास्त हो चुका है।दोनों भाई अपनी जाति अघरिया-पिछड़ा वर्ग को ‘अगरिया’आदिवासी बनाकर नौकरी कर रहे थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शत्रुध्नलाल पटेल पुर्व में चांदन हाईस्कुल में पदस्थ था। तब से इस बात को लेकर शिकायत किया गया था। पर कार्यवाही नहीं होने के कारण मामला दबा रहा । उक्त शिक्षक का जब प्राचार्य पद पर प्रमोशन हुआ तो मामला खुलकर सामने आया।

शिकायत हुई जांच कमेटी का निर्णय आया कि शत्रुघ्न लाल पटेल ने जाति बदलकर शासन को धोखा देकर पदोन्नति का लाभ लिया जो अपराध की श्रेणी में आता है।

जिला शिक्षा अधिकारी बलौदाबाजार के आर. के. वर्मा ने बताया कि प्राचार्य को बर्खास्त कर दिया गया है। और इस तरह से कृत्य करने के कारण उक्त प्राचार्य पर एफ0 आई0 आर0 किया जावेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *