भाजपा नेता और वक़्फ़ बोर्ड के अध्यक्ष ने ममता बैनर्जी को कहा डायन। मचा सियासी बवाल…

वसीम रिजवी ने दावा किया कि राज्य में जल्द ही अब “बंगाली डायन” का जुल्म खत्म होने वाला है। क्योंकि अगले विधानसभा चुनाव में वहां पर भाजपा की सरकार बनने जा रही है और उम्मीद की जा रही कि चमरपंथियों की सरकार राज्य से विदा हो जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के नेतृत्व में सरकार बनाने जा रही है।
नई दिल्ली। अकसर अपने विवादित बयानों के जरिए मीडिया की सुर्खियां बनने वाले उत्तर प्रदेश शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने एक बार फिर विवादित बयान दिया है। इस बार रिजवी ने पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और टीएमसी की अध्यक्ष ममता बनर्जी पर निशाना साधते हुए उन्हें बंगाली डायन बताया है। रिजवी ने पश्चिम बंगाल में शिया समुदाय के इबादतगाहों को सुन्नी मुसलमानों द्वारा तोड़ने जाने के लिए ममता सरकार को जिम्मेदार बताया है।
वसीम रिजवी अकसर अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहते हैं। इसके साथ ही वह सुन्नी मुसलमानों को सीधे तौर पर निशाने हैं। रिजवी ने पश्चिम बंगाल के कोलकाता के मटियाबुर्ज में इमामबाड़े में तोड़फोड़ की घटना के लिए सीधे तौर पर ममता बनर्जी को जिम्मेदार ठहराया है और इसकी निंदा की है।
उन्होंने कहा कि बंगाल की डायन (ममता बनर्जी) अपने वोटों के लालच के लिए राज्य में कट्टरपंथी सुन्नी मुस्लिमों को बढ़ावा दे रही हैं और इसकी नतीजा ये है कि राज्य में शिया मुस्लिमों के इबादतगाहों और संपत्तियों को नुकसान पहंचाया जा रहा है। रिजवी ने कहा कि बंगाल में ममता शियाओं पर जुल्म कर रही है। हालांकि इससे पहले रिजवी कह चुके है कि मदरसों में बच्चों को आतंकवादी बनने की ट्रेनिंग दी जा रही है।
वसीम रिजवी ने दावा किया कि राज्य में जल्द ही अब बंगाली डायन का जुल्म खत्म होने वाला है। क्योंकि अगले विधानसभा चुनाव में वहां पर भाजपा की सरकार बनने जा रही है और उम्मीद की जा रही की चमरपंथियों की सरकार राज्य से विदा हो जाएगी।
उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा चुनाव में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के नेतृत्व में सरकार बनाने जा रही है। उन्होंने कहा कि पूरे विश्व में शिया मुसलमान के लिए भाजपा की सरकार ही सुरक्षित है।
गौरतलब है कि पिछले दिनों कोलकाता के मटियाबुर्ज में बिजली के करंट से बच्चे की मौत के बाद सांप्रदायिक तनाव पैदा हो गया था। शिया मुसलमानों का आरोप है कि आखरी ताजदार अवध वाजिद अली शाह के इमामबाड़े और मकबरा मटियाबुर्ज में सुन्नी मुस्लिमों ने तोड़फोड़ की और वो लोग ऐतिहासिक इमामबाड़े का घंटा भी उठा कर ले गए।
साभार  : *hindi.mynation.com

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *