नीतिन सिन्हा
खरसिया। नगर के वनांचल केयर प्राइवेट अस्पताल में पीड़िता की किडनी निकाले जाने की घटना को लेकर समाज के लोग सामने आने लगे है। इस क्रम में हरदिया पटेल समाज ने दिनांक-07 जून 2019 दिन-शुक्रवार को दोपहर में हरदिहा पटेल समाज, जिला-रायगढ़ के द्वारा अनुविभागीय अधिकारी व दण्डाधिकारी (राजस्व), खरसिया एवं पुलिस अनुविभागीय अधिकारी खरसिया को मुख्यमंत्री के नाम पर लिखित में ज्ञापन सौपा।
साथ ही मुख्यमंत्री छ.ग. शासन रायपुर, व जिला कलेक्टर, रायगढ़ को डाकघर के माध्यम से रजिस्ट्री करके ज्ञापन को भेजा गया।गौरतलब हो कि कुछ रोज पूर्व पीड़िता श्रीमति सुमित्रा बाई पटेल, पति-स्व. श्री कांशीराम पटेल, उम्र-62 वर्ष, निवासी-मरकाम गोढ़ी, तहसील-सक्ति, जिला-जांजगीर चाम्पा (छ.ग.) का है, जो कि दिनांक-26.मई 2019, दिन-रविवार को पथरी का ईलाज हेतु शासकीय सिविल हॉस्पिटल के सर्जन डॉ. विक्रम सिंह राठिया के निजी हॉस्पिटल वनांचल केयर, खरसिया में भर्ती कराया गया था, जहां दिनांक-30 मई 2019, दिन-गुरुवार को संध्याकाल में, तीन शासकीय सर्जन चिकित्सक डॉ. विक्रम सिंह राठिया, डॉ. सजन अग्रवाल (शासकीय सिविल हॉस्पिटल, खरसिया) एवं डॉ.आर के सिंह (शासकीय सिविल हॉस्पिटल, सक्ति) के द्वारा पथरी के ईलाज हेतु पीड़िता का ऑपरेशन किया गया, जिसमें पीड़िता के जानकारी बगैर पथरी के साथ साथ एक किडनी को भी निकाल लिया गया, जिसके लिए रायगढ़ जिले के हरदिहा पटेल समाज, के द्वारा शासन-प्रशासन को ज्ञापन के द्वारा उक्त घटना में उच्च स्तरीय निष्पक्ष जांच व दोषियों पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की मांग किया गया।
ताकि भविष्य में किसी भी व्यक्ति के साथ इस प्रकार की अप्रिय घटना व जीवन के साथ खेलवाड़ न हो सके।
ज्ञापन के दौरान हरदिहा पटेल समाज के जिलाध्यक्ष-श्री भूपेन्द्र कुमार पटेल, जिला महासचिव- श्री आनंदराम पटेल, जिला कोषाध्यक्ष-श्री नारायण प्रसाद पटेल, बरगढ़ सर्किल अध्यक्ष-श्री जितेन्द्र पटेल, बरगढ़ सर्किल कोषाध्यक्ष-श्री मनोहर पटेल, जिला युवा प्रकोष्ठ अध्यक्ष-श्री अजय पटेल, जिला युवा प्रकोष्ठ संयोजक-श्री रामनारायण पटेल, पीड़िता के ज्येष्ठ पुत्र-श्री ऐश्वर्या पटेल, श्री ज्ञानेश्वर पटेल, श्री चैतन्य पटेल जी, श्री रामकुमार पटेल जी, श्री श्याम हरदिहा जी, सूरज पटेल, राकेश पटेल एवं अनेकों स्वजातिय बन्धु उपस्थित रहे।

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.