*किरीट ठक्कर।
गरियाबंद। नगर के सब्जी मार्केट में वर्षों से संचालित मांस मटन की दुकानों को अन्यत्र विस्थापित कर दिया गया है। प्रशासन के इस फैसले से लोगो को बडी राहत मिली है।
विदित हो की नगर के बीच सब्जी मार्केट से मांस मटन की दुकानें हटाने की मांग काफी पुरानी थी, नगर के मध्य मुर्गीयों के बडे-बडे दडबे व पिटारे से लोग बदबु व गंदगी को लेकर परेशान थे। इससे संक्रमण की आंशका भी लगातार बनी हुई थी, मटन मार्केट को दूसरी जगह स्थापित किए जाना सराहनीय पहल माना जा रहा है, हालॉकि इस फैसले को काफी पहले अंजाम दिया जाना था। किंतु संभवत: किसी दबाव की वजह उचित निर्णय नही किया जा सका था।
वैसे नगर पालिका परिषद द्वारा इस दिशा में पहले ही प्रयास किया जा रहा था, रावण भाटा के पास मटन मार्केट का निर्माण कार्य चल ही रहा था किंतु शनिवार दो व्यवसायीयों में हुयी मारपीट के बाद बढे विवाद ने फसाद का रुप अख्तियार कर लिया था, जिसके बाद प्रशासन द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए मटन मार्केट को जनपद के सामने अटल व्यवसायिक परिसर के पीछे अस्थायी तौर पर ले जाया गया है।
सोमवार सब्जीयों की खरीददारी करने पहुंचे शाकाहारीयों को बडी राहत महसुस हुई। नगर के कुछ सब्जी विक्रेता व सम्मानित नागरिक अब सब्जी बाजार के रिक्त हुये स्थान पर पार्किंग व्यवस्था किये जाने की मांग कर रहे हैं, साथ ही बाजार में स्थित शुलभ शौचालय की सफाई व्यवस्था भी दुरुस्त किये जाने की मांग कर रहे हैं l

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.