गरियाबंद जिले में निर्वाचन तैयारियां पूरी। जिला निर्वाचन अधिकारी, श्याम धावड़े ने ली राजनीतिक दलों के जिला प्रतिनिधियों की बैठक।

किरीट ठक्कर
गरियाबंद। लोकसभा आम निर्वाचन 2019 अंतर्गत कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी श्याम धावड़े ने आज राजनीतिक दलों के जिला प्रतिनिधियों की बैठक लेकर जिले में चल रही तैयारियों के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारियां दी। उन्होंने बताया कि महासमुन्द लोकसभा क्षेत्र अंतर्गत गरियाबंद जिले में मतदान 18 अप्रैल को होगी जिसकी तैयारी लगभग पूरी हो गई है। बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के 84 मतदान केन्द्रों के मतदान दलों की रवानगी 16 अप्रैल से प्रारंभ होगी। उन्होंने बताया कि बीएलओ द्वारा मतदाता पर्ची का वितरण प्रारंभ कर दिया गया है तथा ईव्हीएम एवं वीवीपेट मशीनों की कमीश्निंग 10 अप्रैल से प्रारंभ होगी।
बैठक में जिला पंचायत के सीईओ आर.के. खुटे, उपजिला निर्वाचन अधिकारी जे.आर. चैरसिया तथा इंडियन नेशनल कांग्रेस के बीरु यादव रमेश मेश्राम भाजपा के रिखी यादव प्रशांत मानिकपुरी बलदेव सिंह हुंदल व एनसीपी के किरीट ठक्कर, जीवन साहू मौजूद थे।

6 मतदान केन्द्रों में सुबह 7 बजे से होगा मतदान

कलेक्टर धावडे़ ने बताया कि बिन्द्रानवागढ़ विधानसभा क्षेत्र के 06 मतदान केन्द्रों में मतदान सुबह 7 बजे से अपरान्ह 03 बजे तक सम्पन्न होगा। शेष सभी मतदान केन्द्रों में पूर्व निर्धारित सुबह 7 बजे से शाम 5 बजे तक सम्पन्न होगा। उन्होंने बताया कि लोकसभा निर्वाचन में अंतिम प्रकाशन की स्थिति में जिले के 4 लाख 30 हजार 120 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे, जिसमें 2 लाख 15 हजार 441 पुरूष एवं 2 लाख 14 हजार 676 महिला और 3 अन्य मतदाता शामिल है। जिले में 6 नये मतदान केन्द्र के साथ कुल 573 मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। सभी मतदान दलों का प्रशिक्षण कार्यक्रम पूर्ण हो चुका है। मतदाता मतदान के लिए ईपिक प्रस्तुत नहीं कर पाने की स्थिति में 11 वैकल्पिक फोटो पहचान दस्तावेज प्रस्तुत कर मतदान कर सकते है।

48 घंटे पहले थम जायेगा प्रचार प्रसार

कलेक्टर ने बताया कि आयोग के निर्देशानुसार मतदान दिवस से 48 घण्टे पहले किसी तरह का प्रचार-प्रसार प्रतिबंधित होगा। इसी तरह जिले के सभी देशी और विदेशी मदिरा दुकानें 16 अप्रैल शाम 5 बजे से 18 अप्रैल तक बंद रहेंगे। उन्होंने बताया कि आबकारी एक्ट के तहत जिले में अवैध शराब के 151 प्रकरणों में 351 लीटर मदिरा जब्त की गई है। सभी राजनीतिक दल 200 मीटर दायरे के बाहर ही अपने स्टाल स्थापित कर सकेंगे। जिले के 2205 दिव्यांग मतदाताओं और बीमार अथवा बुजूर्गाे के लिए व्हील चेयर की व्यवस्था की गई है। इसी तरह सभी 573 मतदान केन्द्रों में रैम्प, शौचालयों , पेयजल, विद्युत , फर्नीचर, शेड आदि सुविधाओं की व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।

संगवारी, आदर्श , सुगम मतदान केन्द्र बनाये जायेगे

जिले में 6-6 उडनदस्ता एवं स्थैतिक निगरानी दल अवैध परिवहन एवं आचार संहिता उल्लंघन का निरंतर निगरानी कर रहा है। जिले में 10 संगवारी मतदान केन्द्र और 10 आदर्श मतदान केन्द्र बनाये गये हैं। संगवारी मतदान केन्द्रों में सभी मतदान अधिकारी महिलाएं होगी। इसके लिए प्रशिक्षण भी दिया जा चुका है। कलेक्टर ने प्रतिनिधियों से आग्रह किया कि इन मतदान केन्द्रों में अपने बूथ लेबल एजेन्ट महिला ही नियुक्त करें। इसी तरह 02 सुगम मतदान केन्द्र भी स्थापित किये गये है। जिनमें सभी मतदान दल कर्मी दिव्यांग होंगे। 110 मतदान केन्द्रों से वेब कास्टिंग किये जायेंगे। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ने जिले में निष्पक्ष, शांतिपूर्ण और भयरहित मतदान प्रक्रिया सम्पन्न कराने में राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों से सहयोग की अपील की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *