विनोद नेताम
(संवाददाता)
Ad space

मालीघोरी (बालोद)। जनपद पंचायत डौंडीलोहारा के अंतर्गत ग्राम पंचायत दुधली में भूतपूर्व सरपंच गंगाराम देशमुख के कार्यकाल में गांव के शिक्षित बेरोजगारों को रोजगार मुहैया कराने के उद्देश्य से बाजार चौक मालीघोरी में पंचायत फंड से ₹ 8 लाख 60 हजार रुपए की लागत से “अटल व्यवसायिक परिसर” का निर्माण कराया गया था, इसमें कुल 6 कांप्लेक्स का निर्माण किया गया है।

दो कांप्लेक्स में स्वयं का दुकान संचालन कर रहे गंगाराम देशमुख ने बताया कि, आज से 25 से 30 वर्ष पूर्व यहां पर मेरी स्वयं की कच्ची मकान बनी हुई थी, जिस पर होटल  संचालन कर रहा हूं। जब परिसर का निर्माण हुआ तब ग्राम सभा में प्रस्ताव पारित हुआ था जिस पर सर्वसम्मति से दो दुकान मुझे दिया गया है, बाकी के 3 दुकानों को तत्कालीन सरपंच मोहम्मद फिरोज तिगाला ने दिनांक 19/03/2017 को पंचायत भवन में बैठक रखकर लाटरी के माध्यम से पर्ची निकालकर आवंटित किया है; जिसमें 1. भूपेंद्र धनकर, 2. प्रीतम देशमुख, 3. दानेश्वर देशमुख को दिनांक 01/04/2017 से 31/03/2018 तक ₹ 500 रू प्रतिमाह किराए में दिए जाने का निर्णय लिया गया था, जिस पर यह लोग बिना किराए दिए अभी तक दुकान संचालन कर रहे हैं। बाकी के 1 कांप्लेक्स में गांव के सीमेंट व्यापारी मुकेश जैन द्वारा अपनी ऊंची पहुंच व राजनीति का धौंस बताते हुए करीब 8 साल से बिना किराए के जबरदस्ती कब्जा करके रखे हुए हैं। ना तो उनके नाम से पंचायत में कोई प्रस्ताव हुआ है; ना हीं उसे कोई दुकान आबंटित किया गया है।

सीमेंट के उड़ते हुए डस्ट से परेशान होकर सीमेंट गोदाम को हटाने के लिए आसपास के दुकानदारों ने कई बार पंचायत में आवेदन भी दिए हैं पर; पंचायत की ओर से अब तक उस पर कोई कार्रवाई नहीं किया गया है…! सोचने वाली बात यह है कि, यह सभी दुकानदार पंचायत को दी जाने वाली प्रतिमाह किराये की राशि, अब तक किसी ने जमा नहीं की है इससे पंचायत को सालाना लाखों रुपए का नुकसान हो रहा है और पंचायत इन पर अब तक कोई कार्यवाही नहीं किए हैं।

इस सम्बन्ध में जब सरपंच से उनके विचार जानने जानकारी ली गई तब उनका कथन था कि,“सभी दुकानदारों को 10 दिवस के अंदर किराए की राशि जमा करने का नोटिस दिया गया है,  समय पर राशि जमा नहीं करने पर उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी।”
मोहम्मद फिरोज तिगाला
सरपंच 
ग्राम पंचायत दूधली।

ग्रामीण बोधन भट्ट, भुनेश्वर देशमुख, वेणुगोपाल, ज्ञानेश्वर गौतम, केदार देशमुख, खूब लाल भट्ट आदि लोगों का कहना है कि; जो दुकानदार समय पर किराए की राशि जमा नहीं करते हैं, तो उन दुकानदारों को पंचायत नोटिस जारी कर उन्हें खाली करवाया जाए और नए सिरे से आवंटन कराया जाए जिससे बाकी के युवाओं को भी रोजगार करने का अवसर मिले।

इन दुकानदारों ने अब तक जमा नहीं की है किराए की राशि :
01. गजानद होटल बाजार चौक मालीघोरी ₹1000 प्रतिमाह 2017 से अब तक बाकी
02. देशमुख बूट हाउस प्रोपराइटर दानेश्वर देशमुख 2017 से ₹ 500 प्रतिमाह अब तक बाकी
03. डायमंड हार्डवेयर सीमेंट गोदाम प्रोपराइटर मुकेश जैन करीब 8 साल से अब तक का बाकी
04. स्वाति कंप्यूटर एवं फोटो कॉपी सेंटर प्रोपराइटर गेंद सिंह देशमुख 2017 से प्रतिमाह ₹ 500 रू अब तक बाकी
05. आइसेक्ट कंप्यूटर बस स्टैंड मालीघोरी, राकेश यादव दिसंबर 2017 से अब तक प्रतिमाह ₹1000 के हिसाब से बाकी

just click & Join us @ Whatsapp

https://chat.whatsapp.com/KlsMhAVJAAm3EAzzRFNj2s

ad space

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here