यूरिया खाद डिलिवरी करने के नाम पर 80,000/- की ठगी।

गुण्डरदेही में अज्ञात व्यक्ति द्वारा यूरिया खाद डिलिवरी करने के नाम पर ठग लिये 80,000/-रूपये।
सभी कृषि केंद्रो, किसानो एवं व्यापारियो को सर्तक रहने बालोद पुलिस की अपील।
विनोद नेताम
(संवाददाता)

बालोद। घटना थाना गुण्डरदेही क्षेत्र की है, जहाँ यूरिया खाद खरीदने के नाम पर ठगी का मामला प्रकाश में आया है। दरअसल मामला यह है कि प्रार्थी ललित जैन पति स्व0 सिरेमल जैन सा० हटरी बाजार, गुण्डरदेही, जिसका गुण्डरदेही में रवि कृषि केंद्र के नाम से दुकान है,बात कही।
यूरिया खाद जिसे 12 जुलाई को अज्ञात मोबाइल नंबर 9311542066 जो अतुलजी फर्टिलाईजर कंपनी रायपुर के नाम से रजिस्टर है, से ललित जैन के मोबाइल नंबर पर फोन आया और रायपुर से यूरिया खाद रेक लगा है, गाड़ी भेजने की बात कही। यूरिया खाद की डिलिवरी करने का आश्वासन दिया एवं दिनांक 13 जुलाई को लगातार फोन कर माल डिलिवरी हो गया है, कहकर एवं अज्ञात व्यक्ति को सफेद फोर्ड कार CG 07 BK 3639 में जाकर 80,000/- रूपये ले लिये, एवं माल की डिलिवरी नही की गई।

प्रार्थी को शंका होने पर थाना गुण्डरदेही में प्रथम दृष्टया 420 भादवि का अपराध पाये जाने से अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लेने के बाद गुण्डरदेही पुलिस ने क्षेत्र के सभी कृषि केंद्र, व्यापारियो एवं किसानो से अपील की है कि इस प्रकार की किसी भी अज्ञात व्यक्ति द्वारा खाद सप्लाई व फर्टिलाइजेशन के नाम पर खाद सप्लाई के संबंध में पैसे मांगे जाने संबंधी शिकायत होने पर संबंधित थाने में तत्काल रिपोर्ट दर्ज करायें।

सावधान रहें कि प्रदेश में कृषि संबंधित संसाधनों की कालाबाजारी सालों से जोर पकड़ रखी है जिसके चलते प्रदेश के किसानों को हर साल लाखों रुपए की घटीया और गुणवत्ताहिन साम्राग्री व्यापारियों और दलालों के माध्यम से किसानों को बेंच कर मोटी कमाई किया जाता है। प्रदेश के कृषि विभाग के ज्यादातर अधिकारीयों और कर्मचारियों को भली-भांति पता है कि किसानों को किस तरह से कौन-कौन चुना लगा रहा है। लेकिन; सरकारी संरक्षण के चलते इनके भी हाथ और पैर बंधे होने की बात कही जाती है।

सुनने में यह भी मिला है की बड़ी-बड़ी कंम्पनिया छत्तीसगढ़ में धान और फसलिय सीजन को देखकर लाखों-करोड़ों रुपए का व्यापार छत्तीसगढ़ में होते आ रहा है जिनमें से कई दवाई और किटनाशक को सरकार ने अनुमति ही नहीं दिया है, उन्हें भी बड़ी संख्या में प्रदेश में खपाया जा रहा है जिसकी बानगी कांकेर जिला के नरहरपुर ब्लाक में पिछले दिनों देखने को मिला था। अंदाजा लगाया जा सकता है कि; प्रदेश में खाद, बीज, किटनाशक और कृषी दवाईयो का काला कारोबार सम्बंधित अधिकारियों की सांठगांठ में साझा व्यापार चल रहा है।

join our Whatsapp group

https://chat.whatsapp.com/KlsMhAVJAAm3EAzzRFNj2s

 

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *