गरियाबंद : मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने ग्रामीण की ली जान जांच में जुटी अमलीपदर पुलिस।

*गिरिश गुप्ता।

गरियाबंद : जिले के थाना अमली पदर क्षेत्र के ग्राम खरीपथरा में पुलिस मुखबिरी के शक पर ग्रामीण की नक्सलियों के द्वारा हत्या की गई और पोस्टर फेक कर उदंती एरिया कमिटी की नक्सलियों ने हत्या का घटना को अंजाम दिया है। एक पर्चा चस्पा कर पुलिस को इस घटना का जिम्देदार ठहराया है।

मिली जानकारी के अनुसार ग्रामीण रामदेर को पुलिस मुखबीर रामदेर का गलती है यह कि फरवरी 2023 में नक्सलियों के डेरा के ऊपर पुलिस का घेराव करवाया था 200 से ज्यादा पुलिस के साथ नक्सलियों को खत्म करने के लिए योजना बना कर आए थे इसके साथ 5 6 और मुखबिर थे लेकिन रामदेर मुख्य था यह पार्टी और जनता के विरोध में काम कर रहा था एक बार इसे जन अदालत में समझाया था, लेकिन नहीं सुधरा इसलिए अंतिम में इसको भाकपा माओवादी उदंती एरिया कमेटी की ओर से मौत का सजा दिया गया है, उसके साथ जो और पुलिस मुखबिरी कर रहें उन को चेतावनी दिया जाता है कि अगर पार्टी और जनता के सामने आत्मसमर्पण नहीं करेंगे तो उनको भी मौत की सजा मिलेगी पुलिस मुखबिरी करने वालों को मौत का सजा दिया जाता है।

भाकपा माओवादी और जनता विरोधी काम करने वालों को सजा दिया जाएगा पुलिस मुखबिरी रामदेर की मौत का जिम्मेदारी झरिगांव अमलीपदर नवरंगपुर एसपी गरियाबंद एसपी की है और आगे से पुलिस को चेतावनी है की ग्रामीणों जनता को पैसे के लालच में पुलिसगिरी से जोड़ना बंद करो ऐसा लिख कर मृतक के शव के पास नक्सली पर्चा मिला पुलिस मामले की विवेचना कर लाश का पी एम बाद शव को उनके परिजन के सुपर्द कर मामले के जांच में जुटी हुई है।

https://chat.whatsapp.com/F36NsaWtg7WC6t0TjEZlZD
whatsapp

3 thoughts on “गरियाबंद : मुखबिरी के शक में नक्सलियों ने ग्रामीण की ली जान जांच में जुटी अमलीपदर पुलिस।

  1. I’m gone to say to my little brother, that he should also pay a quick
    visit this web site on regular basis to get
    updated from newest gossip.

  2. Hi, I think your site might be having browser compatibility
    issues. When I look at your blog site in Safari, it looks fine but
    when opening in Internet Explorer, it has some overlapping.

    I just wanted to give you a quick heads up! Other then that, superb
    blog!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *