छेड़छाड़ के आरोपी कांग्रेसी नेता की ज़मानत याचिका खारिज़।

रायपुर hct : राजधानी रायपुर में कांग्रेसी नेता संजीव अग्रवाल द्वारा महिला से छेड़छाड़ के मामला में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश के न्यायालय ने अग्रिम जमानत आवेदन को खारिज़ करते हुए पुलिस को तत्काल आरोपी की गिरफ़्तारी का निर्देश दिया है। आपको बता दे कि ब्याजखोर कांग्रेसी नेता संजीव अग्रवाल ने 27 वर्षीय महिला के शरीर के विभिन्न हिस्सों को छूते (touch) करते हुए छेड़छाड़ की थी, जिसका महिला के द्वारा विरोध विरोध किए जाने पर हत्या कर देने की धमकी तक दे डाला। इतना ही नहीं इस नामुराद नेता ने *थाना और पुलिस प्रशासन को खरीद लेने की बात कहते हुए स्वयं को प्रभावशाली एवं सत्ताधारी पार्टी का विशेष व्यक्ति बताकर पुलिस में झूठी शिकायत करवा जेल भिजवाने की भी धमकी दिए जाने की बात सामने आ रही है।

ना महिला का लिया गया बयान और ना ही आरोपी हुआ गिरफ्तार !

इस मामले में गंज थाना प्रभारी की बड़ी लापरवाही सामने आई है जहां कोर्ट ने भी यह माना है कि पीड़ित महिला का बयान तत्काल दर्ज होना चाहिए था, जबकि गंज थाना, पुलिस ने मामला दर्ज होने के एक सप्ताह बाद भी महिला का बयान दर्ज नहीं किया है। इस मामले में कोर्ट ने कांग्रेसी नेता की अग्रिम जमानत याचिका को खारिज़ करते हुए पुलिस को उक्त आरोपी की गिरफ़्तारी के सख्त निर्देश दिए हैं।

राजनीतिक ख़ौफ़ के चलते पुलिस प्रशासन के फूलने लगे हैं हाथ पांव !

*गंज थाना प्रभारी ने ना ही आरोपी नेता के घर-कार्यालय में दबिश दी, और ना ही नोटिस ज़ारी कर आरोपी को थाना बुलाने का कष्ट किया ! पुलिस को सत्ता का खौफ ऐसा छाया हुआ है कि फोन पर उक्त कांग्रेसी नेता को फरार बताने तक थाना प्रभारी यादव थरथर कांपते नजर आए। अगर ऐसा ना होता तो अभी तक उनके द्वारा इस मामले को गंभीरता से जरूर लिया जाता। पुलिस यह बात अच्छे से जानती है कि आरोपी अग्रवाल उनकी नाक के नीचे बैठा है, जिसे छूने की भी हिमाकत वर्दीधारी नहीं कर रहे है। यदि यही कृत्य किसी सामान्य आदमी के द्वारा कारित होता तो यही पुलिस उसे कब का गिरफ्तार करके अपनी पीठ थपथपा रही होती। अब देखना यह है कि क्या पुलिस, इस सत्ताधारी नेता को गिरफ़्तार कर पाती है या नहीं

*वेबपोर्टल www.highwaycrimetime.in इस बात की पुष्टि नहीं करता मगर प्रस्तुत तथ्य इस बात के प्रमाण है।

whatsapp group

About Post Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *