Chhattisgarh

जिला स्तरीय रामायण मंडली प्रतियोगिता : जय शंकर रामायण मंडली चिखली को 50 हजार रुपये का प्रथम पुरुस्कार मिला

मुख्य अतिथि अमितेश शुक्ल ने दिया 50 हजार रुपये का पुरस्कार

किरीट ठक्कर , गरियाबंद । जिला मुख्यालय के गांधी मैदान में आज जिला स्तरीय रामायण प्रतियोगिता का भव्य आयोजन हुआ। जिसमें गरियाबन्द विकासखण्ड अंतर्गत ग्राम चिखली की जय शंकर रामायण मंडली ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। प्रतियोगिता में सर्वप्रथम मैनपुर की हरदीभाठा की जय शिव शंकर मानस मंडली ने अपनी प्रस्तुति दी। प्रतियोगिता गरियाबंद ब्लॉक के जय शंकर मानस मंडली चिखली, फिंगेश्वर ब्लॉक के राजीव लोचन मानस मंडली परतेवा, छुरा ब्लॉक के जय गुरुदेव संकीर्तन मंडल कुडेरादादर के मध्य आयोजित हुई । प्रतियोगिता के मुख्य अतिथि छत्तीसगढ़ के प्रथम पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवम राजिम विधायक अमितेश शुक्ल थे। इस अवसर कार्यक्रम की अध्यक्षता जिला पंचायत उपाध्यक्ष संजय नेताम ने की। आयोजन के दौरान रामकृष्ण वर्मा,कृष्ण कुमार शर्मा,वीरू यादव, ओम राठौर, राजेश साहू,मुकेश रामटेके, योगेश बधेल सहित स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं जिला पंचायत सीईओ, आदिवासी विकास विभाग के सहायक आयुक्त बद्रीश सुखदेवे साथ ही क्षेत्र के रामायण प्रेमी नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित रहे। प्रतियोगिता के लिए निर्णायक मंडल का गठन किया गया था।
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि अमितेश शुक्ल ने विजेता टीम की घोषणा करते हुए जय शंकर रामायण मंडली चिखली को 50 हजार रुपए का प्रथम पुरस्कार प्रदान किया। द्वितीय स्थान पर फिंगेश्वर परतेवा, तृतीय स्थान छुरा कुडेरादादर एवं चतुर्थ स्थान पर हरदीभाठा मैनपुर की मंडली रही।

विकासखण्ड स्तरीय विजेता मण्डलियों को 10-10 हजार रुपये का पुरस्कार

विकासखण्ड स्तरीय विजेता मंडली को भी 10 -10 हजार रुपये का पुरस्कार दिया गया ।इस अवसर पर मुख्य अतिथि अमितेश शुक्ल ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा रामायण प्रतियोगिता का आयोजन महत्वपूर्ण है। उन्होंने मुख्यमंत्री को इस ऐतिहासिक आयोजन के लिए बधाई दी। उन्होंने कहा कि रामायण लोगों के मन मे बसा है। इसके चौपाई, छंद स्वयं सिद्ध है। उन्होंने भगवान राम और माता कौशल्या की महिमा का बखान करते हुए कहा कि चंदखुरी में माता कौशल्या की जन्मस्थली को मुख्यमंत्री ने एक नया रूप दिया। आज हमें किसी भी आडम्बर और दिखावे से बचना चाहिए। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा लोगो की भावना का सम्मान करते हुए इस प्रतियोगिता का आयोजन किया गया है। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे जिला पंचायत उपाध्यक्ष संजय नेताम ने कहा कि प्रदेश की भूपेश बघेल सरकार राज्य की संस्कृति और परम्परा को आगे बढ़ाने का कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि भगवान श्री राम छत्तीसगढ़ के आम जनों के हृदय में बसे हुये है, यहाँ के लोगो की भावना अनुरूप राज्य सरकार द्वारा इस महती प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है । इसके लिए राज्य सरकार बधाई की पात्र है।

उल्लेखनीय है कि राज्य शासन के संस्कृति विभाग द्वारा रामायण मण्डलियों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से ग्राम से लेकर राज्य स्तर पर प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। पंचायत स्तर पर 15 मार्च तक ,जनपद स्तर पर 31 मार्च तक तथा जिला स्तर पर 6 अप्रैल तक आयोजित किया गया। इसी तारतम्य में आज जिला स्तरीय प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। प्रतियोगिता में चार मण्डलियों ने भाग लिया और रामायण की महिमा का भावपूर्ण तरीके से प्रस्तुति दी। देवभोग की मानस मंडली प्रतियोगिता में भाग नही ले पाई। जिला स्तरीय विजेता मंडली को जिला जांजगीर चांपा के शिवरीनारायण में 8 से 10 अप्रैल तक आयोजित होने वाले प्रतियोगिता में भाग लेने का अवसर मिलेगा। जिसमे प्रथम तीन विजेताओं को क्रमशः 5 लाख 3 लाख और 2 लाख रुपए पुरस्कार राशि प्रदान किया जाएगा।

Kirit Thakkar

विगत 10 से अधिक वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में सक्रिय भूमिका, विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में समसामयिक आलेख, कविताएं, व्यंग रचनायें प्रकाशित, पढ़ना लिखना विशेष अभिरुचि, गरियाबंद जिले में "हाईवे क्राइम टाइम" के जिला ब्यूरो चीफ पद पर नियुक्त।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button