निजात कार्यक्रम के तहत मादक पदार्थ गांजा का अवैध बिक्री करने की सूचना पर कार्यवाही।

राजनांदगांव। पुलिस अधीक्षक जिला राजनांदगांव सतोष सिंह द्वारा जिले में अवैध शराब ,जुआ, सट्टा एवं मादक पदाथ के विरूद्ध चलाये जा रहे विशेष अभियान निजात के अंतर्गत लगातार कार्यवाही किया जा रहा है, इसी तारतम्य में दिनांक 22.02.22 व 23.02.22 के दरमियानी रात मुखबीर सूचना पर पुलिस अधीक्षक संतोष सिंह के निर्देशन व अतिरिक्त पु0अधीक्षक संजय महादेवा एवं नगर पु0अधीक्षक गौरव राय के मार्गदर्शन में नगर पुलिस अधीक्षक राजनांदगांव गौरव राय, प्रशिक्षु आईपीएस मयंक गुर्जर एवं थाना प्रभारी कोतवाली अलेक्जेण्डर किरो के नेतृत्व में विशेष टीम गठित कर बहुत ही संवेदनशील तरीके से तुलसीपुर रेल्वे कुआ के पास थाना के निगरानी बदमाश पुखराज वर्मा के घर में अवैध रूप से गांजा होने की सूचना पर विधिवत रेड कार्यवाही किया गया।

25 तोला सोने की चैन एवं 32 तोला सोने का ब्रेस्लेट जप्त।

रेड कार्यवाही में पुखराज वर्मा द्वारा बिक्री हेतु अपने घर में छुपा कर रखे हुये अवैध रूप से 371 कि0ग्रा0 मादक पदार्थ गांजा को बरामद किया गया एवं 12,48,400/- रू0 गांजा की बिक्री रकम एंव बिक्री रकम से खरीदे गये 01 नग सोने का चैन वजनी करीबन 25 तोला कीमती 12,50000/-रू0 एंव 01 नग सोने का ब्रेस्लेट वजनी करीबन 32 तोला कीमती 1600000/- रू0 को बरामद किया गया।

आदतन अपराधी
अनेक मामलों में अपराध पंजीबद्ध, कई बार जा चुका है जेल…

पुखराज वर्मा पिता वीरसिंह वर्मा (चंदेल) के विरूद्व एन0डी0पी0एस0एक्ट की धारा 20 (बी) के अन्तर्गत कार्यवाही किया जाकर गिर0 किया गया है। आरोपी पुखराज वर्मा से गांजा कहाँ से लाने के संबध में पूछताछ करने हेतु पुलिस रिमाण्ड की आवश्यकता होने पर 01 दिवस पुलिस रिमाण्ड हेतु माननीय न्यायालय से निवेदन किया जाता है। पुखराज वर्मा एक आदतन अपराधी है जिसके विरूद्व पूर्व में भी कई मामलो में अपराध पंजीबद्व कर जेल भेजा जा चुका है। आरोपी पुखराज वर्मा के विरूद्व थाना कोतवाली के अतिरिक्त अन्य थानो में भी अपराध पंजीबद्व है एवं रायपुर, दुर्ग जिले में भी अपराध पंजीबद्व है एवं थाना कोतवाली का निगरानी बदमाश है।

इनकी रही सराहनीय भूमिका

उक्त कार्यवाही में उप निरी0 आलोक साहू उप निरी0 भोला सिंह , उप निरी0 इंदिरा वैष्णव सउनि0 सुमन कर्ष, सउनि0 संतोष सिंह, प्र0आर0 225 जी0 सिरील, प्र0आर0 नंद कुमार चन्द्रवंशी ,आर0 रजिंत चौरसिया, जोगेश राठौर, ऋषिदास, प्रवीण मेश्राम, विभाष राजपुत, असलम, म0आर0 रविना पाल की सहरानीय भूमिका रही।

whatsapp group

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.