hct desk : छत्तीसगढ़ की न्यायधानी बिलासपुर के कोनी थाना क्षेत्र से एक अचंभित कर देने वाली घटना सामने आई है जानकारी के मुताबिक एक वहशी पिता अपनी ही मासूम बेटी को हवस का शिकार बनाने वाले पिता को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपी पिता 11 साल की अपनी बेटी को डरा-धमकाकर पांच साल तक दुष्कर्म करता रहा। शासकीय संस्थान में काम करने वाली मां को पिता की हरकतों पर शक हुआ, तब उसकी बेटी ने आप बीती बताई। मामला सामने आने पर मां अपनी बेटी को लेकर थाने पहुंची थी।

थाना प्रभारी सुनील तिर्की ने बताया कि 15 वर्षीय लड़की 11वीं कक्षा में पढ़ती है। उसका पिता रोजी-मजदूरी करता है और मां गर्वमेंट संस्थान में काम करती है। लड़की जब 11 साल की उम्र की थी, तब से उसका पिता उसके साथ गंदी हरकतें करता था। तब मासूम बच्ची को उसने जान से मारने की धमकी देकर डराया-धमकाया और अपनी मां को कुछ भी बताने से मना किया था। डर के चलते पांच साल तक छात्रा अपने पिता के शारीरिक शोषण का शिकार होती रही।

सच्चाई जानने माँ ने बनाया दबाव तब खुला भेद

बेटी धीरे-धीरे कर बड़ी हुई, तब उसके पिता उसे घर से बाहर जाने से मना करते थे। डर के कारण बच्ची खेलने के लिए बाहर भी नहीं जा पाती थी। बड़ी होने के बाद भी आरोपी पिता उसे घर में रहने पर मजबूर करता था। इस दौरान उसकी मां ड्यूटी पर रहती थी। ये सब काफी दिन तक चलता रहा, बेटी के बाहर नहीं निकलने पर उसकी मां को उस पर शक हुआ। तब उसने अपनी बेटी को सच्चाई बताने का दबाव बनाया और उन्हें छोड़कर अकेली रहने की धमकी दी। मां के सख्त रुख को देखकर बेटी सहम गई और पिता की करतूतों की कहानी बताई।

मामला सामने आने पर उसकी मां उसे लेकर कोनी थाना पहुंची, जहां उसने पूरी घटना की जानकारी दी। छात्रा का बयान दर्ज कर पुलिस ने आरोपी पिता के खिलाफ सोमवार को केस दर्ज किया और मंगलवार को आरोपी को कोर्ट में पेश करके जेल भेज दिया है।

whatsapp group

By Kavita Gendre

प्रेरक प्रवक्ता, समाज सेविका। अध्यक्षा "आँचल नारी सशक्तिकरण एवं प्रशिक्षण समिति", ग्राम : अर्जुनी, टिकरी (अर्जुन्दा) विकासखंड : गुंडरदेही, जिला बालोद (छ०ग०) कार्यक्षेत्र : महिला सशक्तिकरण के क्षेत्र में महिलाओं को जागरूक करना, बाल-विवाह, दहेज प्रथा की रोकथाम, पति-पत्नि के बीच उपजे विवाद को सुलझाकर आपसी सामंजस्य स्थापित करना, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता, बेटी बचाओ बेटी पढाओ, कुपोषण, बंधुआ मजदूरी आदि के लिए कार्यरत। E-mail : kavitagendre1@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.