बालोद hct : विगत दिनों प्रदेश सहित जिला में भारी बारिश हुई जिसके छत्तीसगढ़ राज्य सरकार के द्वारा शुरू की गई धान खरीदी प्रक्रिया बुरी तरह प्रभावित हुई, बारिश के कई दिनों बाद धान खरीदी धान उपार्जन केन्द्रों में शुरू तक नहीं हो सकी अभी भी लगभग 21 हजार किसान धान बेंच नही पाये हैं। इस बीच जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के नोडल अधिकारी सत्येन्द्र वैद्य के एक बयान ने सनसनी फैला दी है।

जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के नोडल अधिकारी सत्येन्द्र वैद्य ने जिला प्रशासन बालोद को बारिश के दौरान, धान उपार्जन केन्द्रों में रखे हुए धान के संबंध में बताया है कि; खरीफ विपणन वर्ष 2021-22 में जिला अंतर्गत 138 धान उपार्जन केन्द्रों के माध्यम से समर्थन दर पर सफलतापूर्वक धान उपार्जन किया गया है। धान खरीदी प्रक्रिया केन्द्रों में शुरू होने से पहले सारी तैयारियां कर ली गई थी जिसके चलते भारी बारिश में धान उपार्जन केन्द्रों में रखे हुए धान खराब नहीं हुआ है बारिश के दौरान सभी केन्द्रों में तिरपाल से स्टेक को ढक लिया गया था।

नोडल अधिकारी सत्येन्द्र वैद्य के द्वारा जारी रिपोर्ट कहाँ तक सही है यह बताने की हमें ज्यादा जरूरत नहीं है, बारिश के दौरान हाईवे क्राइम टाइम ब्यूरो बालोद के टीम ने जिला के ज्यादातर धान उपार्जन केन्द्रों की कुछ वीडियो फुटेज लिया है जिसको देखने के बाद हो सकता है कि उनकी कुम्भकर्णी निंद्रा भंग हो जिसकी सम्भावना नहीं के बेहद करीब हैं। साथ ही आप भी प्रस्तुत वीडियो पर गौर फरमाइए…

whatsapp group

By Soni Smt. Sheela

सम्पादक : प्रचंड छत्तीसगढ़, मासिक पत्रिका, राजधानी रायपुर से प्रकाशित। RNI : CHHHIN/2013/48605 Wisit us : https://www.pc36link.com

Leave a Reply

Your email address will not be published.