बारिश से धान खरीदी केन्द्रों में भारी नुकसान, धान खरीदी प्रक्रिया आज भी प्रभावित।

बालोद hct : छत्तीसगढ़ राज्य जहाँ की वर्तमान कांग्रेस सरकार किसानों की सरकार होने की बात हर मंच पर सीना तान कर कहती है, जैसे मानो उनकी सरकार ने किसानों की जायज हक दिला कर उन पर अहसान कर दिया हो, हकिकत के धरातल पर यदि हम देखें तो प्रदेश के मौजूदा सरकार किसानों की धान खरीदी हेतू समर्थन मूल्यों की पूर्ति में लगातार कर्ज ले रही है जो कि एक प्रकार से राज्य के किसानों के ऊपर ही बोझ है।

बहरहाल छत्तीसगढ़ में विगत 1 दिसम्बर से धान खरीदी प्रक्रिया की शुरुआत हो चुकी है, और इस दौरान मौसम ने अचानक करवट बदल कर सरकार की धान खरीदी केन्द्रों में रखरखाव और सुविधाओं की पोल खोल कर रख दिया है।

विगत दिनों खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने बारिश में हुई धान खरीदी केन्द्रों में नुकसान को लेकर प्रदेश के 6 जिला के कलेक्टरो को नोटिस जारी कर मामले में जानकारी मांगी है, लेकिन राज्य में ऐसे कई जिला है जहाँ पर विगत दिनों हुई बारिश में धान खरीदी केन्द्रों में भारी नुकसान हुआ है जिसमें छत्तीसगढ़ राज्य के बालोद जिला भी है जंहा के धान खरीदी केन्द्रों की स्थिति बारिश के दौरान से अबतक सुधर नहीं पाई है जिसके चलते धान खरीदी प्रक्रिया की शुरुआत नाम मात्र भर की चल रही है।

whatsapp group

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *