बालोद hct : छत्तीसगढ़ राज्य जहाँ की वर्तमान कांग्रेस सरकार किसानों की सरकार होने की बात हर मंच पर सीना तान कर कहती है, जैसे मानो उनकी सरकार ने किसानों की जायज हक दिला कर उन पर अहसान कर दिया हो, हकिकत के धरातल पर यदि हम देखें तो प्रदेश के मौजूदा सरकार किसानों की धान खरीदी हेतू समर्थन मूल्यों की पूर्ति में लगातार कर्ज ले रही है जो कि एक प्रकार से राज्य के किसानों के ऊपर ही बोझ है।

बहरहाल छत्तीसगढ़ में विगत 1 दिसम्बर से धान खरीदी प्रक्रिया की शुरुआत हो चुकी है, और इस दौरान मौसम ने अचानक करवट बदल कर सरकार की धान खरीदी केन्द्रों में रखरखाव और सुविधाओं की पोल खोल कर रख दिया है।

विगत दिनों खाद्य मंत्री अमरजीत भगत ने बारिश में हुई धान खरीदी केन्द्रों में नुकसान को लेकर प्रदेश के 6 जिला के कलेक्टरो को नोटिस जारी कर मामले में जानकारी मांगी है, लेकिन राज्य में ऐसे कई जिला है जहाँ पर विगत दिनों हुई बारिश में धान खरीदी केन्द्रों में भारी नुकसान हुआ है जिसमें छत्तीसगढ़ राज्य के बालोद जिला भी है जंहा के धान खरीदी केन्द्रों की स्थिति बारिश के दौरान से अबतक सुधर नहीं पाई है जिसके चलते धान खरीदी प्रक्रिया की शुरुआत नाम मात्र भर की चल रही है।

whatsapp group

By Dinesh Soni

जून 2006 में सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय द्वारा मेरे आवेदन के आधार पर समाचार पत्र "हाइवे क्राइम टाईम" के नाम से साप्ताहिक समाचार पत्र का शीर्षक आबंटित हुआ जिसे कालेज के सहपाठी एवं मुँहबोले छोटे भाई; अधिवक्ता (सह पत्रकार) भरत सोनी के सानिध्य में अपनी कलम में धार लाने की प्रयास में सफलता की ओर प्रयासरत रहा। अनेक कठिनाइयों के दौर से गुजरते हुए; सन 2012 में "राष्ट्रीय पत्रकार मोर्चा" और सन 2015 में "स्व. किशोरी मोहन त्रिपाठी स्मृति (रायगढ़) की ओर से सक्रिय पत्रकारिता के लिए सम्मानित किए जाने के बाद, सन 2016 में "लोक स्वातंत्र्य संगठन (पीयूसीएल) की तरफ से निर्भीक पत्रकारिता के सम्मान से नवाजा जाना मेरे लिए अत्यंत सौभाग्यजनक रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published.