Ad space

*रूपेश कुमार वर्मा

अर्जुनी (बलौदा बाजार)। स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत अभियान के तहत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा स्वच्छता को पहली प्राथमिकता दिया गया है जिससे स्वच्छ भारत के सपने को साकार किया जा सके और इसके अंतर्गत लाखो करोड़ो का खर्च भी किया जा रहा है, किंतु इसके विपरीत बलौदा बाजार विकासखंड के सबसे बड़ी ग्राम पंचायत ग्राम अर्जुनी के एकलौते छांयादार नर्सरी इन दिनों अपने हाल पे रो रहा है और स्वच्छता से अछूता है।

भाटापारा बलौदाबाजार मुख्य मार्ग पर अर्जुनी के नर्सरी दिनों ग्राम पंचायत अर्जुनी से निकले हुये कचरे से अटा पड़ा है, जिसके लिए ग्राम पंचायत द्वारा इस कचरे के निदान के लिए कोई उचित कदम नही उठा रहे है, जबकि यंहा के जनप्रतिनिधियों का जिम्मेदारी बनती है कि गांव से एकत्रित हुए कचरे को योजनाबद्ध तरीके से गांव से दूर बने कचरा नाशक केंद्रों तक पहुंचाया जाय लेकिन यंहा सब उल्टा है। कचरे को स्थानीय नर्सरी के एक छोर पर डंप किया जा रहा है जिसे आसपास का वातावरण दूषित हो रहा है।

यहां यह बताना लाजिमी हो कि अर्जुनी का एकमात्र नर्सरी जहाँ लोग-बाग सुकून के दो पल बिताने जाया करते थे अब वो भी गंदगी भरे इस आलम में जाने से कतरा रहे है समझ मे नही आ रहा कि वे जाए तो जाए कंहा यह जानना आवश्यक है कि इसी नर्सरी के समीप में शासकीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भी है वहीं कोरोना जैसे संकटकाल में लोग वैक्सिनेशन के लिए भारी संख्या आ रहे है जो अपने बारी का इंतजार इसी नर्सरी में बैठकर करते है। लिहाजा इसी गंदगी के चलते वे भी इधर -उधर अपना समय काट रहे है, यह नर्सरी जो कि आसपास के इलाके में गांव का शान हुआ करता था वह वर्तमान में अपने बदइंतजामी में रो रहा है। यहाँ कभी स्थानीय स्कूल के बच्चे पिकनिक मनाया करते थे जो कि अब यहाँ पड़े डिस्पोजल शराब के बोतल व गंदगी को देखते हुये नही जाते है।

ज्ञात हो कि शासन द्वारा गांव व शहर से निकले हुए कचरे व वेस्ट मटेरियल के निपटारा हेतु के स्थानों पर मणिकंचन केंद्र स्थापित किया गया है जिसमे आसानी से उक्त कचरो का निदान किया जाता है, साथ आसपास स्थापित सीमेंट संयंत्रो के माध्यम से भी कचरे का ठिकाना लगाया जा सकता है किंतु अभी तक इस बड़ी ग्राम पंचायत में अभी तक कोई पहल नही किया गया है जिससे स्थिति और भी गंभीर बनता जा रहा है। जिससे स्पष्ट है कि यह ग्राम पंचायत स्वच्छता के प्रति जागरूक नहीं है और स्वच्छता को धता लगाया जा रहा है जो कभी न कभी मुसीबत का सबब बन सकता है ।

इनका कहना है

“नर्सरी में व्याप्त कचरे के निदान के लिए सीमेंट संयंत्रो के अधिकारियों से चल रहा है ।जल्द ही कचरे को उक्त स्थान से हटा लिया जाएगा । इस पर योजना बनाया जा रहा है ताकि नर्सरी में सफाई बना रहे। अभी हाल ही में जेसीबी से फैले कचरे को एकत्रित कराया गया है।”

प्रमोद कुमार जैन
सरपंच ग्राम पंचायत अर्जुनी

whatsapp group

ad space

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here