Ad space

जोधपुर। मामला जोधपुर के महामंदिर इलाके की है। यहां के रहने वाले प्रदीप दवे की शादी नहीं हो रही थी। इतने में ही उनकी मां से एक रिश्तेदार ने दलाल के बारे में बताया जो बालोतरा का रहने वाला है। दलाल कैलाश ने 2 लाख रुपए में शादी करा देने की बात कही और मोबाइल पर फोटो दिखाकर शादी तय करा दी।

इधर शादी तय होने के बाद मरेठ में शादी होने की बात कही गई। प्रदीप और उसका परिवार दलाल कैलाश के साथ मेरठ पहुंचा। मेरठ में अधिवक्ता मोहम्मद खालिद के चेंबर में शादी संपन्न कराई गई। कोरोना का हवाला देकर चैंबर में ही दूल्हे ने दुल्हन की मांग भरी और फेरे लिए। इसके बाद मंगलसूत्र पहनाकर शादी का दस्तावेज तैयार कर पति-पत्नी को परिवार समेत विदा कर दिया गया।

सुहागरात की अगली सुबह दुल्हन ने खोला ऐसा राज की उड़ गए सबके होश… !

दूल्हा; नई नवेली दुल्हन को लेकर जोधपुर आया और वहां सुहागरात honeymoon पर होटल में रुका। यहां दुल्हन ने सुहागरात के अगले दिन दूल्हे से विनती करने लगी कि, उसकी ससुराल और पति कोई और है। वो दो बच्चों की मां है। उसे जाने दिया जाए नहीं तो वो सुसाइड कर लेगी।

इधर दलाल कैलाश से प्रदीप ने 2 लाख रुपए मांगे और महिला को साथ भेजने की बात कही बाद में कैलाश के पीछे हटने पर प्रदीप ने कोर्ट में परिवाद दाखिल किया है इसकी अलगी सुनवाई 19 को होगी।

whatsapp group

ad space

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here