A respected leader of the city was assaulted in the dark of night!

Ad space

बालोद (hct)। जिला के नगर पंचायत गुरूर जिसे “संजारी बालोद विधानसभा” के राजनीतिक रण क्षेत्र में संजीवनी मानी जाती है, जहाँ विगत दो दिनों से नगर के एक जनप्रतिनिधि के घर में घुसकर; गाली-गलौज व मारपीट abuse and assault की खबर को लेकर चर्चा बनी हुई है। नगर के बच्चों से लेकर उम्रदराज के लोगों के कान उक्त घटनाक्रम के पीछे छिपी सच्चाई को सुनने तरस रहे हैं।

घटना के पीछे सच्चाई से जुड़े कुछ खास-ओ-आम scourer की मानें तो उक्त युवा नेता के खास उपलब्धि से प्रभावित कुछ जलनखोर मानसिकता jealous mentality से लबरेज लोगों ने ईमानदार छवि और समाज में ख्याति प्राप्त कर चुके उक्त युवा नेता को नगर स्थित उनके निवास पर रात के अंधेरे में लगभग 9 बजे के आसपास अचानक पहुंच कर उस पर हमला किए जाने की बात बता रहे हैं। उक्त युवा जनप्रतिनिधि के साथ मारपीट की घटना जंगल में आग की तरह समूचे गुरुर क्षेत्र में फ़ैलते देर नहीं हुई और लोगों का हुजूम मौका-ए-स्थल की ओर रुख कर गई।

एक रुदबेदार नेता के साथ मारपीट और मामले में चुप्पी ?

नगर के इस युवा नेता के साथ उसके ही घर में घुसकर गाली गलौज़ और फिर उसके बाद हाथापाई वह भी भीड़ के सामने, इस पर ना तो गुरूर पुलिस कुछ कह रही है, और ना ही नगरवासी कुछ कहने को तैयार नजर आ रहे है, बता दें कि उक्त मामले में अब तक किसी भी पक्षों की ओर से किसी भी प्रकार की कोई शिकायत नहीं हुई है लेकिन मामले में नगर पंचायत गुरूर में सरगर्मी तेज है और क्षेत्रवासी अंदर ही अंदर ख़ामोशी के पीछे का राज जानने की उधेड़बुन में लगे हुए हैं। हाँ, क्षेत्र के अन्य नेताओं के द्वारा मामले में अलग अलग तरह की प्रतिक्रिया सामने आने की शुरुआत होने के आसार साफ नजर आ रहे है।

“न्याय सब्बो बर” का नारा खोखला 

एक तरफ जहाँ उक्त वारदात के बाद से लोगों के मन में यह बात शंका घर कर गई है कि जब एक सम्मानित जनप्रतिनिधि के साथ यदि ऐसा घटनाकारित किया जा सकता है; तो एक आम आदमी के साथ इस तरह से या इससे भी अधिक गंभीर घटना घटने से इंकार नहीं किया जा सकता। इसी बात से सहमे मोहल्लेवासियों में एक तरह से नाराजगी भी देखी जा रही है। वहीं दूसरी तरफ चर्चा के बाजार में इस बात के दावे प्रतिदावे किए जा रहे हैं कि प्रदेश के कका भूपेश बघेल जिनके द्वारा “न्याय सब्बो बर” का नारा बुलंद किए हुए हैं, खोखला साबित हो रही है…

बहरहाल मामले पर नगरवासी और क्षेत्र की आम जनता कानून व्यवस्था पर गंभीर सवाल खड़े कर रहे हैं; जिनका जवाब आम जनता को समय पर मिलना आवश्यक है। लोगों की मानें तो नगर पंचायत गुरूर में विगत कुछ दिनों से कानून के साथ भद्दा मजाक करने की लोगों की आदत सी बन कर रह गई है साथ ही कानून की रक्षा करने वाले, लोगों की जिम्मेवारी इस तरह के करतूतों को अंजाम देने वाले लोगों की जागीर बन कर रह गई है…

whatsapp group

ad space

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here